आजसू पार्टी ने किया नाला थाना के समक्ष धरना-प्रदर्शन।





नाला (जामताड़ा)-- उत्तम मंडल उर्फ बाबू मंडल संदेहास्पद मृत्यु का अविलंब उद्भेदन तथा अफजलपुर में ओपी स्थापना की मांग को लेकर आजसू पार्टी की ओर से सोमवार को नाला थाना के समक्ष एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कार्यक्रम किया गया।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर आजसू पार्टी के केंद्रीय सचिव माधव चन्द्र महतो मौजूद थे।कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष असीम  मंडल ने की वहीं धरना प्रदर्शन कार्यक्रम का मंच संचालन प्रदीप मंडल ने की। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं ने समवेत होकर प्रशासन के विरोध में नारे भी लगाए। इस क्रम में केंद्रीय सचिव माधव चन्द्र महतो ने अपने संबोधन में कहा कि  2 महीने बीत जाने के बाद भी अभी तक मामले का उद्भेदन नहीं होना दुर्भाग्यपूर्ण है । आजसू पार्टी नाला इकाई द्वारा हत्यारे को अविलंब गिरफ्तार करने तथा उद्भेदन हेतु एक दिवसीय सांकेतिक धरना के माध्यम से त्वरित कार्रवाई हेतु प्रशासन से मांग करती है । सभी कार्यकर्ताओं ने बारी-बारी से उत्तम हत्याकांड के उद्भेदन को लेकर अपना अपना विचार व्यक्त किया और प्रशासन की शिथिलता पर भी प्रकाश डाला । प्रशासन अगर सक्रिय रूप से चाहे तो इस मामले को लेकर त्वरित उद्भेदन किया जा सकता है परंतु ऐसा नहीं हो रहा है बड़ी ही दुखद बात है वहीं उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल का बॉर्डर का क्षेत्र होने के कारण आए दिन पश्चिम बंगाल के अपराधी उस क्षेत्र में आने जाने का संदेश से इनकार नहीं किया जा सकता है। पार्टी यह भी मांग करती है कि अफजलपुर में पुलिस आउटपोस्ट का स्थापना अभिलंब  किया जाए । कार्यक्रम के अंत में प्रतिनिधि मंडल के द्वारा थाना प्रभारी को ज्ञापन सौंपा गया जिसमें उत्तम हत्याकांड उद्भेदन को लेकर मांग की गई साथ ही अफजलपुर में पुलिस फाड़ी की स्थापना की मांग की गई। वहीं केंद्रीय सचिव माधव चन्द्र महतो ने यह भी कहा कि अगर दुर्गा पूजा के बाद भी उत्तम मंडल हत्याकांड का उद्भेदन नहीं हुआ तो उग्र आंदोलन तथा नए हथकंडे अपनाए जाएंगे । इस अवसर पर मृतक उत्तम मंडल की पत्नी वैशाखी मंडल,  पुत्री अनन्या मंडल, माता सुमित्रा मंडल के अलावे प्रदीप मंडल,  अजय मंडल, जीवन मंडल, अनाथ गोरांई , असीम मंडल, बापी दास, चंद्रमोहन घोष,  निमाई घोष, बीजू कर, छोटन ठाकुर, अभिजीत दां, रवि लाल गोरांई, धरनी घोष, शेख फुरकान, राजू दास, मकर मल्लिक, प्रभात बाउरी, मंत्रि मंडल,  गोसांई मंडल, गुणधर माजी,सजल गोरांई, जगन्नाथ घोष सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे ।

कोई टिप्पणी नहीं