आपूर्ति विभाग की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ हर जरूरतमंदों को मिले इसका रखें विशेष ख्यालः-जिला आपूर्ति पदाधिकारी



उपायुक्त-सह-जिला दण्डाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री के निदेशानुसार आज दिनांक-09.10.2021 को जिला अपूर्ति पदाधिकारी की अध्यक्षता में आपूर्ति से जुड़े विभिन्न योजनाओं एवं राईस मिल व पैक्सों से संबंधित प्रगति समीक्षा बैठक का आयोजन समाहरणालय सभागार में की गई। इस दौरान पीएमजीकेवाई और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत आवंटित खाद्यान्न वितरण की प्रखंडवार समीक्षा करते हुए सभी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों से योजना के अंतर्गत खाद्यान्न उठाव एवं वितरण की जानकारी ली गयी। साथ हीं पीएमजीकेवाई और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के नवम्बर माह में आवंटित खाद्यान्न का शत-प्रतिशत वितरण सुनिश्चित करने का आदेश दिया। वहीं खाद्यान्न उठाव में लापरवाही बरतने वाले संबंधित अधिकारियों व कर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की बात कही। साथ हीं उपायुक्त के निदेशानुसार जिले के वैसे राशन कार्डधारियों पर संज्ञान लेते हुए प्रखण्ड स्तर के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिला स्तर पर सघन जांच अभियान का आयोजन करते हुए अवैध या गलत तरीके से राशनकार्ड का लाभ ले रहे लोगों को चिन्हित कर कड़ी करवाई करते हुए अनाज की वसूली का 10 प्रतिशत ब्याज के साथ करें, ताकि जरूरतमंद लोगों को राशनकार्ड से लाभान्वित किया जा सके।

इसके अलावे बैठक के दौरान जिला आपूर्ति पदाधिकारी द्वारा जानकारी दी गयी कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की समयावधि को बढ़ा दिया गया है, योजना के तहत फ्री राशन अब नवंबर 2021 तक मिलता रहेगा। योजना के तहत एएवाई (गुलाबी कार्ड), बीपीएल (पीला कार्ड) व ओपीएच (खाकी कार्ड) धारकों को 5 किलोग्राम प्रति सदस्य मुफ्त खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाएगा। साथ हीं उन्होंने जिला स्तर पर किये जा रहे कार्यों यथा-पी०टी०जी० डाकिया योजना, अनुदानित दर पर किरासन तेल/नमक तथा चीनी वितरण, डोर स्टेप डिलीवरी, ग्रीन कार्ड, वन राशन कार्ड योजना के साथ विभिन्न योजनाओं को लेकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया।

इसके अलावा समीक्षा के क्रम में जिला आपूर्ति पदाधिकारी द्वारा जानकारी दी गयी कि जिला अन्तर्गत कुल 25 पैक्सों को नजदीकी मिल से जोड़ने की प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूर्ण कर लें, ताकि उपायुक्त कार्यालय को इससे जुड़े प्रतिवेदन समर्पित की जा सके। 

■ सोना-सोबरन धोती-साड़ी योजना को लेकर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश....

इसके अलावे बैठक के दौरान जिला आपूर्ति पदाधिकारी श्री अमित कुमार ने सोना-सोबरन धोती-साड़ी योजना के तहत चल रहे कार्यो की प्रखंडवार समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों व विपनन पदाधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि 20 प्रतिशत धोती, लुंगी, साड़ी मिलने के पश्चात कपड़े की गुणवत्ता की जांच मुख्यालय स्तर से की जाएगी, जिसके बाद पारदर्शी तरीके से सभी प्रखंडो में योग्य लाभुकों के बीच इसका वितरण तय समय अनुरूप किया जाएगा।

 बैठक में उपरोक्त के अलावे सभी प्रखण्डों के विपनन पदाधिकारी, राईस मिल के प्रतिनिधि एवं संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।


कोई टिप्पणी नहीं