जल जीवन मिशन रथ को उपायुक्त ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया



उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री ने जल जीवन मिशन रथ को हरी झण्डी दिखाकर समाहरणालय परिसर से जिले के सभी प्रखण्डों व पंचायतों के लिए रवाना किया। इस दौरान मीडिया प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गयी कि इस योजना के तहत 2024 तक सरकार द्वारा जिले के ग्रामीण इलाकों में हर एक घर में पीने के पानी का कनेक्शन देगी। घरों तक पानी पहुंचाने के अलावा निर्धारित गुणवता वाले पर्याप्त मात्रा में पेयजल आपूर्ति के साथ इसकी गुणवता और इसकी निगरानी पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसके अंतर्गत जल संरक्षण जैसे विषयों पर भी काम किया जा रहा है और लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है। 

इसी कड़ी में आज से जिले के सभी प्रखंडों में जल जीवन मिशन के सफल क्रियान्वयन हेतु व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार और गांव-गांव जाकर जल जीवन मिशन के बारे में जानकारी दी जायेगी। सरकार की महत्वाकांक्षी योजना जल जीवन मिशन के तहत वर्ष 2024 तक राज्य के सभी ग्रामीण परिवारों को कार्यरत नल से जल मुहैया कराया जाना है। ग्राम पंचायत विकास योजना में जल के कार्यक्रमों में भागीदारी एवं सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए सभी ग्राम पंचायत, ग्राम जल एवं स्वच्छता समिति, जलसहिया एवं आमजनों को जल जीवन मिशन के विषय में समुचित जानकारी दी जाएगी। इसी उद्देश्य से विभाग द्वारा जल जीवन मिशन के तहत पंचायत व ग्राम स्तर पर जनजागरूकता के लिए वृहत अभियान का आयोजन किया जाना है। 04 प्रचार वाहन के माध्यम से अभियान के तहत प्रचार-प्रसार की विभिन्न गतिविधियों द्वारा जन-जन तक जल जीवन मिशन का संदेश दिया जाना है, ताकि समुदाय के द्वारा इस अभियान को जनआंदोलन का रूप दिया जा सके।

इसके अलावे इस निमित ग्राम स्तर पर मुखिया, जलसहिया, आंगनबाड़ी सेविका/सहायिका, स्वास्थ्य सहिया एवं सुजल एवं स्वच्छ गांव का प्रशिक्षण प्राप्त स्वच्छताग्राही, स्वच्छता दूत, निगरानी समिति के सदस्य को विशेष कर अपना योगदान वीएपी तैयार करने में सुनिश्चित करेंगे। साथ ही पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल के जिला समन्वयक कनीय अभियंता एवं सोशल मोबलाइजर वीएपी तैयार करने में पूर्ण जिम्मेदारी के साथ सहयोग करेंगे। वही कोविड-19 महामारी की स्थिति में गाँवों में पानी की आपूर्ति और जल संरक्षण से संबंधित कार्यों को शुरू किया जा रहा है, ताकि कुशल, अर्ध-कुशल प्रवासी श्रमिकों को आजीविका प्रदान करने के साथ-साथ ग्रामीण परिवारों को पीने योग्य पानी की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे कार्यपालक अभियंता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल, देवघर श्री आनन्द कुमार सिंह, पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल, मधुपुर श्री नवीन भगत, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्री रवि कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी श्री परमेश्वर मुण्डा, जिला समन्वयक विजय कुमार, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमार विद्यार्थी, कनीय अभियंता एवं संबंधित विभाग के कर्मी आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं