पर्यावरण दिवस पर किया वृक्षारोपण



देवघर मन की उड़ान युवा क्लब तथा ए. एस महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के  इकाई 5  संयुक्त तत्वावधान मैं  आज  दिनबन्धु  उच्च  विद्यालय देवघर व बरमसिया यादव टोला  मैं कार्यक्रम किया गया जिसमें  विद्यार्थीयो व ग्रमीणों  को पर्यावरण संरक्षण व वृक्षारोपण  किया गया और मन की उड़ान युवा क्लब के सचिव सह राष्ट्रपति अवार्डी राजेन्द्र कुमार ने  कक्षा 6 से लेकर 10 के छात्र छात्राओं को बताया कि कैसे  वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने लोगों को महसूस करा दिया कि हमारे लिए ऑक्सीजन कितना आवश्यक है। एक समय हम सभी आक्सीजन के लिए कितना तड़प रहे थे। पूरा तंत्र आक्सीजन मुहैया कराने के दिशा में लगा था ताकि लोगों का जीवन बच सके। इसलिए हर लोगों को  काम से कम 10 पौधा हर साल  अवश्य लगाना चाहिए क्योंकि पेड़ों की कटाई से पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंच रहा है। पेड़ लगाकर हम उनकी भरपाई कर सकते हैं। सभी लोगो को सपथ ग्रहण भी करवाया गया। यादव टोला मैं भी ग्रमीणों के बीच मैं पौधा वितरण किया गया और सेनेटरी पैड का।व सिविल लाइन, अटल नगर, दुर्गाबाड़ी मैं कार्यक्रम किया गया। 

 स्कूल मे वृक्षारोपण किया गया जिसमें प्रधानाध्यापक  काजल क्रांति सीकेन्द्र तथा अन्य शिक्षक  मैं। सुनील कुमार( सहायक शिक्षक),भारती कुमारी,कनक चौधरी,मनीषा घोष जितेंदर कुमार,उदय कुमार मंडल,मनेश्वर यादव तथा बालिकाओ के द्वारा किया गया

वही एनएसएस की वोलेंटिर दीपशिखा,श्रावणी ने  कक्षा 6  से 10 की छात्राओं को माहवारी की जानकारी दी और  बताया कि कई  महिलाएं  और लड़किया पीरियड्स में कपड़े का इस्तेमाल करती हैं। जिसे धोकर और छुपाकर सुखाने के चक्कर में खुली हवा व धूप तक नहीं लगने देती हैं, साथ ही बार-बार इसी का इस्तेमाल करती रहती हैं, जो कि गंभीर इंफेक्शन को न्योता देता है। इसीलिए सैनिट्री पैड का इस्तेमाल करना चाहिए और इस्तेमाल किये हुए पैड को 5 से 8 घंटे में बदल लेना चाहिए। इसके साथ ही इस्तेमाल किये हुए पैड को एक जगह इकठा कर जल देंना चाहिए या कुरे दान में फेंक देना चाहिए साथ ही  पीरियड्स के दिनों में अपने बैग में हमेशा एक्स्ट्रा सेनेटरी नैपकिन, टिशू पेपर, हैंड सेनेटाइजर, एंटीसेप्टिक दवा

रखें, क्‍योंकि किसी भी वक्त इनकी जरुरत पड़ सकती है।

कार्यक्रम को सफल बनाने मे।कार्यक्रम पदाधिकारी भारती प्रसाद, युवराज सिंह, रोशनी कुमारी, अंनु कुमारी, साक्षी कुमारी,अंजलि केशरी,श्रावणी मन्ना, दीपशिखा, चाँदनी, राजेन्द्र, सहित दर्जनों लोगों का सराहनीय योगदान रहा।

कोई टिप्पणी नहीं