करो प्रखंड के विभिन्न दुर्गा मंदिरों में कलश स्थापना के साथ भक्तिपूर्ण वातावरण में दुर्गा पूजा प्रारंभ हो गया



मधुपुर अनुमंडल के करो प्रखंड मैं शारदीय नवरात्र पर्व प्रखण्ड के विभिन्न  दुर्गा  मंदिरों  कलश स्थापना के साथ भक्तिपूर्ण वातावर में प्रारम्भ हो गया । धार्मिक व पौराणिक गांव  करोंग्राम के देदे टोला , मजूनदार टोला , आचार्य टोला , सिंहवाहिनी देवी दुर्गा मंदिरों में दुर्गा पूजा धुमधाम के साथ मनाया जाता है । वहीं बाबा कर्णेश्वर मंदिर के समीप दुर्गा मंदिर में कलश स्थापना  पंडित सरोज पुजारी , रवि पुजारी , हराधन पुजारी विधि विधान के साथ सम्पन्न करते हूये  नवरात्र के प्रथम दिन हिमालय की पुत्री  देवी शैलपुत्री  का परम्पारिक धार्मिक अनुष्ठान आयोजित कर शैलपुत्री का आह्वानकर आस्था , श्रद्धा के साथ पूजन किया । बताते चलें कि शैलपुत्री के बाएँ हाथ में कमल फूल और दाहिने हाथ में त्रिशुल तथा नन्दी नामक वृषक पर सवार है ।  शैलपुत्री समस्त धरा के जीव-जन्तुओं के रक्षक है । नवरात्रि  को नवशक्तियों से युक्त  और नौ स्वरूपों का अपना अलग-अलग विशेषता है । 

उल्लेखनीय यह है कि हिन्दु धर्म नवरात्रि पर्व का विशेष महत्व है । पंडित सरोज पुजारी ने कहा  आदिशक्ति जगदम्बा  के उपासना व अराधना से  मन और चित में सकारात्मक सोच उत्पन्न होता है । प्रेम , स्नेह और भाईचारा का स्वत : समावेश होता है । नौ शक्तियों का मिलन पर्व है । 

मौके पुजा समिति व्यवस्थापक शरदेन्दु सिंह , पुर्णानन्द राय , गोपाल राय ,हिरा लाल राय , अरदेन्दु सिहं,आशीष आचार्य उपस्थित थे!

कोई टिप्पणी नहीं