राष्ट्रीय बाल दिवस पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का होगा आयोजन



देवघर  : स्थानीय विवेकानंद शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं क्रीड़ा संस्थान, योगमाया मानवोत्थान ट्रस्ट तथा साइंस एंड मैथेमेटिक्स डेवलपमेंट आर्गेनाईजेशन के संयुक्त बैनर तले वतन के प्रथम प्रधानमंत्री पण्डित जवाहरलाल नेहरू की 132वीं जयंती तथा बाल दिवस के अवसर पर बच्चों के बीच विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन सम्पूर्ण भारत में होने जा रहा है। जवाहरलाल नेहरू भारत के प्रथम प्रधानमन्त्री थे और स्वतन्त्रता के पूर्व और पश्चात् की भारतीय राजनीति में केन्द्रीय व्यक्तित्व थे। महात्मा गांधी के संरक्षण में, वे भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के सर्वोच्च नेता के रूप में उभरे और उन्होंने 1947 में भारत के एक स्वतन्त्र राष्ट्र के रूप में स्थापना से लेकर 1964 तक अपने निधन तक, भारत का शासन किया। वे आधुनिक भारतीय राष्ट्र-राज्य – एक सम्प्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, और लोकतान्त्रिक गणतन्त्र - के वास्तुकार माने जाते हैं। कश्मीरी पण्डित समुदाय के साथ उनके मूल की वजह से वे पण्डित नेहरू भी बुलाए जाते थे, जबकि भारतीय बच्चे उन्हें चाचा नेहरू के रूप में जानते हैं। इसकी जानकारी देते हुए विवेकानंद संस्थान के केंद्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने कहा- इस वर्ष विद्यार्थियों के बीच हस्तलेखन, नृत्य, गीत, चित्रांकन, फ़ोटो फेस, भाषण, पत्रलेखन, निबंध एवं कहानी सुनाओ प्रतियोगिताओं का आयोजन ऑनलाइन, पत्राचार के माध्यम सम्पन्न होने जा रहा है। प्रतिभागियों को कई ग्रुपों में बाँटा गया है। वर्ग नर्सरी से द्वितीय को ग्रुप ए, वर्ग तृतीय से षष्ठ को ग्रुप बी, वर्ग सप्तम से दशम को ग्रुप सी, इंटर एवं डिग्री में पाठ्यरत विद्यार्थियों को ग्रुप डी तथा बाकी विद्यार्थियों जिनकी उम्र 25 की सीमा पार नहीं की, को ग्रुप ई में रखा गया है। सभी विषयों में सभी ग्रुपों में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थानाधिकारियों को प्रशस्ति पत्र एवं मेडल, जबकि सभी विषयों के सर्वश्रेष्ठ को विशेष पुरस्कार प्रदान किया जाएगा, साथ ही प्राप्तांक के आधार पर एक को चैंपियन अवार्ड भी प्रदान किया जाएगा। सम्पूर्ण देश से अपने क्षेत्र में विशेष उपलब्धि प्राप्ताधिकारी को पण्डित जवाहरलाल नेहरू इंस्पिरेशन अवार्ड की मानद उपाधि से अलंकृत की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं