सारठ सीएचसी प्रभारी पर आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने सीएस को दिया आवेदन





देवघर-सीएचसी सारठ के प्रभारी डॉक्टर  जियॉउलहक के ढुलमुल कार्यप्रणाली और अनियमितता के साथ साथ उनके अभद्र ब्यवहार से आजिज हौकर स्थानीय ग्रामीणों ने इनके विरुद्ध जांच कर कार्यवाही को लेकर देवघर सीएस को एक आवेदन दिया है।वहीं आवेदकों ने अपने पत्र में दर्शाया है कि डॉक्टर जियॉउलहक कभी भी समय पर अस्पताल नहीं पहुंचते हैं और  सारठ के ही तेतरिया डंगाल में अपनी निजी क्लिनिक चलाते हैं।

वहीं लगातार इनके द्वारा मरीज के परिजनों से अभद्र ब्यवहार करने की भी शिकायत मिल रही है।ऐसा ही एक वाकया दो दिन पूर्व हुआ है जब रात के समय प्रसव वेदना से तड़पती पहुंची एक महिला के इलाज़ की कोताही पर उनके ही एक शुभ चिंतक ने जब फोन पर डॉक्टर जियाउलहक से बात किया तो उन्होंने चिकित्सीय शंकल्प की पूरी तरह से धजिया उड़ाते हुए अभद्र ब्यवहार का परिचय दिया है जिसकी ऑडियो क्लिप भी उक्त युवक में सीएस को उपलब्ध करवाया है।

बीते दिनों मीडिया के भी एक वरिय अधिकारी के साथ भी इनकी झूठ की पोल खुली है और उक्त सीएचसी में कार्य कर रहे स्टॉफ ने भी कहा है कि वह समय पर अगर अस्पताल नहीं पहुंचे हैं तो समझ जाईये की वे अपने निजी क्लिनिक में ही बैठे होंगे।बहरहाल पूरी तरह से सारठ सीएचसी सिर्फ़ एक महिला आयुष चिकित्सक के भरोसे चल रहा है।

बहरहाल आक्रोशित ग्रामीणों ने जिला के सीएस के साथ साथ कर्मठ उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री से भी कार्यवाही करने का आग्रह किया है ताकि सारठ सीएचसी की व्यवस्था को सुधारते हुए स्थानीय ग्रामीणों को समुचित स्वास्थ्य लाभ मिल सके और वर्तमान प्रभारी के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए किसी कुशल और ब्यवहारिक चिकित्सक को भेजा जाए।

कोई टिप्पणी नहीं