देवघर में फिनकॉर्प एप के माध्यम से ठगी करने वाले सात साइबर अपराधी गिरफ्तार, 13 मोबाइल, 19 सिम कार्ड और 5 एटीएम बरामद



देवघर जिला के साइबर थाना की पुलिस ने फिनकॉर्प एप के माध्यम से ठगी करने वाले सात साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। शनिवार को इस बाबत आयोजित एक प्रेस वार्ता में साइबर डीएसपी सुमित प्रसाद ने पूरे मामले की जानकारी दी।वहीं डीएसपी ने बताया कि साइबर थाना की पुलिस ने पथरड्डा ओपी क्षेत्र के बरदेही, पथरौल थाना क्षेत्र के बुढ़ीकुरा एवं कझियाटांड और मोहनपुर थाना क्षेत्र के पहाड़पुर गांव से सात साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। इन साइबर अपराधियों के पास से 13 मोबाइल, 19 सिम कार्ड, 5 एटीएम कार्ड, 2 पासबुक और 1 चेकबुक बरामद किया गया है। गिरफ्तार अपराधियों में 28 वर्षीय रंजीत दास, 25 वर्षीय जयकांत महरा, 34 वर्षीय सुभाष दास, 19 वर्षीय मंटू दास, 20 वर्षीय संजय रवानी, 19 वर्षीय धीरज रवानी और 20 वर्षीय गौतम कुमार का नाम शामिल है। इसके अलावे डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार सुभाष दास का आपराधिक इतिहास रहा है और वह पहले भी साइबर ठगी के मामले में जेल जा चुका है। वहीं साइबर डीएसपी द्वारा यह जानकारी दी गयी कि इन साइबर अपराधियों द्वारा साइबर ठगी की घटना को अंजाम देने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जाते थे। साइबर अपराधी फोन पे कस्टमर अधिकारी बनकर ठगी करते हैं। इसके साथ ही ड्रीम 11, रम्मी और तीन पत्ती गेम के माध्यम से ठगी करते हैं। इसके साथ साइबर अपराधी गूगल सर्च इंजन का कस्टमर केयर अधिकारी बनकर लोगों को लॉटरी का प्रलोभन देकर पैसों की ठगी करते थे। साथ ही ये साइबर अपराधी फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लोगों को फोन करते हैं और उन्हें बताते हैं कि उनका एटीएम बंद होने वाला है। इसके अलावा केवाइसी अपडेट कराने के नाम पर भी ठगी की जाती है। इन अपराधियों द्वारा साइबर ठगी के लिए गूगल पे का भी सहारा लिया जाता था। साथ ही साइबर अपराधियों द्वारा वर्चुअल पेमेंट एड्रेस के माध्यम से भी ठगी की जाती थी।

कोई टिप्पणी नहीं