निलंबित IPS अफसर राकेश दुबे व सुधीर पोरिका पर सरकार सख्त, अगले चार महीनों तक रहेंगे सस्पेंड



बालू से मलाई खाने में निलंबित दो आईपीएस अधिकारियों को सरकार बख्शने के मुड में नहीं है।नीतीश सरकार ने निलंबन की अवधि एक बार फिर से 4 महीनों के लिए बढ़ा दिया है। गृह विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। अब दोनों आईपीएस अधिकारी 22 जनवरी 2022 तक निलंबित रहेंगे।

गृह विभाग ने जारी किया आदेश 

गृह विभाग ने अपने आदेश में बताया है कि निलंबित आईपीएस अधिकारी सुधीर कुमार पोरिका और राकेश दुबे के खिलाफ आर्थिक अपराध इकाई की जांच चल रही है। डीजीपी की सिफारिश पर इन दोनों अधिकारियों को 27 जुलाई को 60 दिनों के लिए निलंबित किया गया था। इन दोनों के निलंबन की अवधि 24 सितंबर को समाप्त हो रही थी। राकेश दुबे के खिलाफ आर्थिक अपराध इकाई आय से अधिक संपत्ति की जांच कर रही है। वहीं दूसरे निलंबित आईपीएस अफसर सुधीर कुमार पोरिका के खिलाफ भी आय से अधिक संपत्ति जांच को लेकर ईओयू से सिफारिश की गई है। ऐसे में इन दोनों अधिकारियों के निलंबन की अवधि को 22 जनवरी 2022 तक बढ़ाये जाने का निर्णय लिया गया है।

भोजपुर-औरंगाबाद के एसपी को सरकार ने किया था निलंबित

बता दें, बालू से मलाई खाने के आरोप में आर्थिक अपराध इकाई की रिपोर्ट पर सरकार ने कई अफसरों पर कार्रवाई की है। इनमें भोजपुर के तत्कालीन एसपी राकेश दुबे और औरंगाबाद के तत्कालीन एसपी सुधीर कुमार पोरिका को भी सस्पेंड किया गया था। राकेश दुबे के खिलाफ तो आर्थिक अपराध इकाई ने आय से अधिक संपत्ति को लेकर कई ठिकानों पर छापेमारी भी कर चुकी है।

कोई टिप्पणी नहीं