पार्थ बनेंगे तभी कुरुक्षेत्र का महाभारत जीतेंगे ख्यालीराम



मधुपुर  मंगलवार को महेंद्र मुनि सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के वंदना स्थल में विद्या भारती उत्तर पूर्व क्षेत्र के संगठन मंत्री ख्यालीराम ने भैया बहनों को संबोधित करते हुए कहा की आज का समय चुनौतियों से भरा है। आज हम सफल और विजयी बनना चाहते हैं इसके लिए हमें पार्थ बनना होगा तभी कुरुक्षेत्र का महाभारत जीत सकेंगे। उन्होंने सकारात्मक सोच, लक्ष्य का निर्धारण ,सक्रियता, समय प्रबंधन तथा कठिन परिश्रम को परिभाषित करते हुए इन पांचों के महत्व का उल्लेख किया।

ज्ञात हो कि कोरोना से उबरने के बाद उच्च कक्षाओं की शैक्षणिक गतिविधियां प्रारंभ हो गई है ।विद्यालय के भौतिक संसाधनों तथा अन्य स्थितियों का अवलोकन करने हेतु विद्या भारती उत्तर पूर्व क्षेत्र के संगठन मंत्री ख्यालीराम और विद्या विकास समिति के प्रदेश सचिव अजय कुमार तिवारी पूरे प्रदेश में भ्रमण कर रहे हैं। वंदना स्थल पर क्षेत्रीय संगठन मंत्री ,प्रदेश सचिव तथा विभाग निरीक्षक सुरेश मंडल ने संयुक्त रुप से दीप प्रज्वलित किया। इस अवसर पर संगठन मंत्री को विद्यालय के अध्यक्ष सुबोध कुमार राय ने, प्रदेश सचिव को विद्यालय के सचिव सरोज कुमार मिश्रा ने ,विभाग निरीक्षक को प्रधानाचार्य शिव कुमार चौधरी ने तथा विद्यालय के अध्यक्ष को प्रधानाचार्य एवं प्रभारी प्रधानाचार्य शिवनाथ झा ने संयुक्त रुप से शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया । कार्यक्रम में अधिकारियों का परिचय प्रधानाचार्य ने तथा संचालन किरण राय ने किया।

द्वितीय सत्र में आचार्यों के साथ बैठक में प्रदेश सचिव अजय कुमार तिवारी ने कहा कि आचार्यों को अपने दायित्व का निर्वहन ईमानदारी पूर्वक करना चाहिए क्योंकि भारत के भविष्य का भार इन के कंधों पर है किसी भी शिक्षक को शिक्षा सिद्धांत की हत्या करने का कोई अधिकार नहीं है, अगर वह ऐसा करते हैं तो यह महापाप है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को जन जन तक पहुंचाने के लिए सभी आचार्यों को लगना होगा तभी यह सफलता के शिखर तक पहुंच पाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि आज कई प्रकार की चुनौतियां हमारे सामने हैं फिर भी बच्चों को संवारने का काम हमें ही करना होगा। प्रथम सत्र में कक्षा नवम से द्वादश तक के भैया बहन तथा आचार्य उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं