वायरल बुखार से सैकड़ों बच्चे आक्रांत अस्पताल में बेड फुल



गया  वायरल बुखार का असर गया जिला में देखने को मिल रहा है l  बच्चों को सर्दी खांसी तेज बुखार दम फूलना निमोनिया जैसी शिकायतें हैं l  मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल का शिशु वार्ड पूर्ण रूप से भरा हुआ है l  71 में 47 वेट पर बच्चे और जनरल वार्ड में 37 में 26 बेड फुल है शहर के निजी नर्सिंग होम में बीमार बच्चों की भीड़ देखी जा रही है l

चिकित्सकों के अनुसार कुछ मामले वायरल निमोनिया के भी आ रहे हैं जो सही इलाज से 500 दिन में पूर्ण रूप से ठीक हो जाएगी l  विगत 15 दिनों में सर्दी जुकाम और बुखार गांव गांव में अपना पैर पसार रखा है 1 मार्च से लेकर 10 साल के बच्चे इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं l  एक चिकित्सक ने बताया कि बच्चों की सेहत को लेकर चौक से बचने की जरूरत है अधिक बुखार और तकलीफ रहने पर पसली तेज चल रही है तो तुरंत चिकित्सक से इलाज कराएं बुखार चार-पांच महीने ठीक हो जाएगा छोटे बच्चों को नियमित रूप से स्तनपान कराया जाए l

अभी वायरल बुखार का सीजन है हाल के दिनों में कुछ मरीज बढ़े हैं बच्चों से लेकर बड़ों के इलाज की समुचित व्यवस्था मगध मेडिकल कॉलेज में की गई है l  मगध मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक डॉ प्रदीप अग्रवाल ने बताया कि वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए 100 बेड की व्यवस्था और कर दी गई है l

कोई टिप्पणी नहीं