विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर भारतीय मजदूर संघ द्वारा सम्पूर्ण देश में बाल मजदूरी एवं पुनर्वास पर आधारित फ़िल्म "कल के भविष्य" का प्रदर्शन



मोतिहारी/ पटना भारतीय मजदूर संघ विश्वकर्मा जयंती को राष्ट्रीय श्रम दिवस के रूप में मनाता आ रहा है। इस कड़ी में शुक्रवार को भारतीय मजदूर संघ द्वारा विश्वकर्मा जयंती एवं राष्ट्रीय श्रम दिवस के अवसर पर सम्पूर्ण देश में बाल मजदूरी एवं पुनर्वास पर आधारित फ़िल्म "कल के भविष्य" का प्रदर्शन किया गया। 

युवराज मीडिया एण्ड एंटरटेनमेंट द्वारा प्रस्तुत डा. राजेश अस्थाना द्वारा लिखित अभिनीत एवं निर्देशित, निर्माता सीमा रानी की बाल मजदूरी उन्मूलन एवं उनके पुनर्वास को दर्शाती महामहिम राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी द्वारा प्रशंसा पत्र प्राप्त फ़िल्म "कल के भविष्य" में तीन आईएएस अधिकारी रवि परमार मनुभाई, भरत कुमार दुबे, अजय कुमार पाण्डेय, एक आईपीएस डा. कमल किशोर सिंह, छः बीपीएस पदाधिकारी डी एन मेहता डीडीसी, गणेश प्रसाद एडीएम, बिहारी दास एसडीओ के अलावे युवराज, संध्या रानी, धामा वर्मा, डी आनंद, स्व. अरविंद पाठक, पप्पू गुप्ता, सुधीर कुमार, सम्राट, अभिनव आकर्ष, रमेश कुमार समेत दर्ज़नों कलाकारों ने अभिनय किया है। फ़िल्म के छायाकार एस के मन्नू, संपादन रौशन जमाल, संगीत सत्यजीत शरण तथा निर्माण सहयोग एस शिवकुमार आईएएस का है। फ़िल्म की सम्पूर्ण शूटिंग मोतिहारी और आसपास हुई है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों बाल मजदूरी उन्मूलन एवं उनके पुनर्वास को दर्शाती टेलीफिल्म "कल के भविष्य" से हुई कमाई से मोतिहारी के दर्ज़नों बाल मजदूरों के अभिभावकों को स्वरोजगार कराया गया जो आज भी मिशाल है।

इस अवसर पर भारतीय मजदूर संघ के उत्तरप्रदेश लखनऊ में प्रदेश अध्यक्ष ललित नारायण पांडेय, नई दिल्ली में विश्वम्भर राजभर, राजस्थान जयपुर में बिनोद जैन एवं मुम्बई महाराष्ट्र में सिद्धनाथ कुलकर्णी तथा टीम के अलावा बिहार पटना के क्षेत्रीय संगठन मंत्री गणेश मिश्र, प्रदेश महामंत्री संजय कुमार सिन्हा, प्रदेश उपाध्यक्ष बलराम पाण्डेय, प्रदेश मंत्री विनोद कुमार सिंह एवं मुरारी प्रसाद, जिला अध्यक्ष नीरज कुमार, जिला मंत्री अजय कुमार, सहायक जिला मंत्री पप्पू वर्मा एवं चंदन सिंह तथा प्रदेश एवं जिला के कई सदस्य गणों ने फ़िल्म का प्रदर्शन किया।

कोई टिप्पणी नहीं