रामविलास की बरसी पर एक साथ दिखेंगे चिराग-पारस, बरसी के कार्ड पर चिराग ने पूरे पासवान परिवार का नाम छपवाया



पटना : लोजपा में जब से टूट हुई थी तब से पशुपति पारस और चिराग पासवान एक-दूसरे के खिलाफ हो गए थे. दोनों एक-दूसरे पर हमला करने का एक भी मौका नहीं छोड़ते थे. इस बीच अब बड़ी खबर सामने आ रही है. दरअसल, चाचा पारस और चिराग पासवान के बीच की दूरियां कम होती हुई नजर आ रही है. दरअसल, 12 सितम्बर को लोजपा के संस्थापक व पूर्व दिवंगत केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की पहली बरसी पटना में मनाई जाएगी.

वहीं, इस मौके पर चाचा पारस और चिराग पासवान दोनों साथ में दिखेंगे. स्वर्गीय रामविलास पासवान की बरसी को लेकर सारी तैयारियां चल रही है. वहीं, इसके लिए चिराग पासवान द्वारा कार्ड भी छपवाए गए हैं. इस कार्ड पर चाचा पशुपति पारस का नाम भी छपवाया है. इसके साथ ही पूरे पासवान परिवार के अन्य सदस्यों के नाम भी छपवाए गए हैं. बता दें कि,कार्ड के एक भाग मेंविनीत के तौर पर चिराग पासवान का नाम सांसद सह राष्ट्रीय अध्यक्ष लोजपा लिखा हुआ है.

तो वहीं, दूसरे साइड पर शोकाकुल परिवार के तौर पर सबसे पहले केंद्रीय मंत्री और अपने चाचा पशुपति कुमार पारस, चचेरे भाई कृष्ण राज, चचेरे भाई व समस्तीपुर सांसद सह प्रदेश अध्यक्ष (पारस गुट) प्रिंस राज और यश राज का नाम छपवाया गया है. बता दें कि, रामविलास पासवान की मृत्यु के बाद पार्टी की कमान, राष्ट्रीय अध्यक्ष पद और लोकसभा में संसदीय दल का नेता को लेकर दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया था. जिसके बाद दोनों ने अलग होकर अपना एक अलग गुट बनाया. वहीं, अब चाचा पारस और चिराग पासवान अपनी यात्राओं के दौरान बिहार के जिलों का भ्रमण कर जनसमर्थन जुटाने में लगे हुए हैं.

कोई टिप्पणी नहीं