मध्य विद्यालय पोबी में किया गया हीमोग्लोबिन जाँच शिविर का आयोजन।



एनीमिया मुक्त भारत अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुधवार को मध्य विद्यालय पोबी में हीमोग्लोबिन जाँच शिविर का आयोजन किया गया। विद्यालय में अध्ययनरत छात्राओं का  सीएचओ जुली पन्ना,ए एन एम मंजू कुमारी द्वारा हीमोग्लोबिन व कोविड 19 एंटीजन जाँच किया गया। जांचोपरांत रक्त स्तर में कमी पाये जाने वाली छात्राओं को आयरन ,कैल्शियम का ख़ुराक दिया गया।  पौष्टिकतायुक्त भोजन सेवन की जानकारी दिया गया। स्वास्थ्यकर्मी दिलीप मरांडी,अभिषेक कुमार,नीतीश कुमार,सुनील कुमार ने सहयोग किये।    सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जमुआ प्रबंधन समिति सह टास्क फ़ोर्स सदस्य योगेश कुमार पाण्डेय ने उक्त अवसर पर लोगो को जागरूक,उत्प्रेरित करते हुए कहा कि हीमोग्लोबिन का स्तर आयु के मुताबिक़ घटता,बढ़ता है। रक्त का स्तर में कमी के कारण शरीर का समग्र  विकास अवरुद्ध हो जाता है। रक्त स्तर सामान्य रहे इसके लिये पौष्टिकता युक्त भोजन करनी चाहिये। समय -समय पर स्वास्थ्य जाँच कराते रहना चाहिये।  स्वस्थ राष्ट्र के लिए नागरिक को स्वस्थ,स्वच्छ होना जरूरी है।   अफ़वाह से दूर रहे और हीमोग्लोबिन जाँच अवश्य कराये ,एनीमिया बीमारी मुक्त भारत बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाये। 13 सितंबर को कस्तूरबा बालिका विद्यालय  कारोडीह से अभियान प्रारम्भ हुआ है। 14 सितम्बर को उय स्वास्थ्य  केंद्र भुपतडीह में ,15 सितम्बर को मध्य विद्यालय पोबी में शिविर का आयोजन किया गया। 16 सितम्बर को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मिर्जागंज में,17 सितम्बर को प्राथमिक विद्यालय शिबुडीह में हीमोग्लोबिन जाँच शिविर का आयोजन  किया गया है। 18 सितम्बर को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र नवडीहा में अभियान का समापन होगा।  छात्र नेता  कमलेश कुमार राम पप्पू ने कहा कि सरकारी अभियान तभी असरकारी होता है जब सामुदायिक सहभागिता सुनिश्चित होता है। सभी सहयोग करें।    शिविर के सफल आयोजन में आंगनबाड़ी सेविका सरिता कुमारी,पुष्पा देवी,मध्य विद्यालय पोबी के शिक्षक द्वारिका रजक,एस एम सी अध्यक्ष संपूर्णानंद प्रसाद, सुकन्या राहत फाउंडेशन पोबी पंचायत समन्वयिका योगिता कुमारी का सराहनीय भूमिका रही। उक्त अवसर पर उमेश  दास,किशोरी यादव,सन्तोष साव सहित विद्यार्थीगण मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं