सिद्धू सीएम बनने के लिए अड़े, आज फिर विधायक दल की बैठक

 


पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के साथ लंबे समय तक चली तनातनी के बाद अमरिंदर सिंह ने शनिवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने स्पष्ट कहा कि बार-बार विधायकों की बैठक बुलाए जाने से उन्होंने अपमानित महसूस किया, जिसके बाद पद छोड़ने का फैसला किया.


सूत्रों के अनुसार नवजोत सिंह सिद्धू मुख्यमंत्री बनने के लिए अड़ गए हैं. बताया गया कि इस बार मुख्यमंत्री के साथ साथ उप मुख्यमंत्री भी बनाया जाएगा, कल तक फैसला हो सकता है.मिली जानकारी के अनुसार अगर मुख्यमंत्री सिख होगा तो उप मुख्यमंत्री हिन्दू होगा और अगर मुख्यमंत्री हिन्दू हुआ तो उपमुख्मंत्री सिख होगा. ऑब्जर्वर की आलाकमान से वीडियो कांफ्रेंसिंग से बात हुई.


मुख्यमंत्री के बाद हुई विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को अधिकृत किया गया कि वह विधायक दल के नये नेता का चयन करें. यह नया नेता ही पंजाब का अगला मुख्यमंत्री होगा. सूत्रों के मुताबिक, नये विधायक दल के नेता के तौर पर सिद्धू के अलावा कांग्रेस की पंजाब इकाई के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़, पूर्व मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा, तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा और राज्यसभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा के नाम चर्चा में हैं.


इन नामों के अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री अम्बिका सोनी, ब्रह्म मोहिंद्रा, विजय इंदर सिंगला, पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष कुलजीत सिंह नागरा आदि के नामों की भी चर्चा है.

कोई टिप्पणी नहीं