अनुमंडल के विभिन्न गांव कस्बों में लोक परंपरा जितिया व्रत पूजा की गई



मधुपुर 29 सितंबर तीन दिवसीय लोक पर्व जितिया व्रत अनुमण्डल के विभिन्न गांवों-कस्बों में लोक परम्परा , बरगद डाली पूजन , नेग-विध अौर पारन के साथ समापन हो गया । करों प्रखण्ड के धार्मिक गांव करोंग्राम के आचार्य टोला ,दुर्गा मंदिर , बाबा कर्णेश्वर मंदिर , विष्णु मंदिर , जय माँ चण्डी मंदिर और कायस्त दुर्गा मंदिरों में व्रती महिलायें एकत्रित हो बरगडाली के समक्ष पूजा-अर्चना की ।  पंडित श्यामल मिश्र , सुकूमार मिश्र व रवि पुजारी ने जितवान् मंत्रों के द्वारा आहवान करते व्रतियों  को बारी -बारी से पुजा कराते चन्दन टीका लगाया । व्रतियों ने खरजितिया कर फल -फूल चढ़ा कर अपने-अपने पुत्रों की दीर्घ आयु की कामनायें की ।  उल्लेखनीय यह है कि जिवीत्पुत्रिक , जितिया परब का बिशेष महत्व है । पुत्र के लम्बी आयु अौर सुखमय जीवन के लिये मातायें उपवास रखती है इस अवसर पर पंड़ित श्यामल मिश्र जितिया से जुड़े कई कथाओं पर सारगर्भित प्रवचन प्रस्तुत  किया ।  झ्स अवसर पर लोगो को चना ,मटर , मुंग , अरहर  का औकरी , खीरा , केला आदि का प्रसाद वितरण किया गया!

कोई टिप्पणी नहीं