वंचित समाज और जनतांत्रिक मूल्यों की रक्षा करने वाले पत्रकार आज न्याय से वंचित - रविंद्र



 गढ़वा  भारती श्रमजीवी पत्रकार संघ के तत्वाधान मे गढ़वा जिला के बंशीधर स्थित सभाकक्ष में कोरोना काल में पत्रकारों की भूमिका एवं योगदान विषय पर आयोजित संगोष्ठी को संबोधित करते हुए झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रविंद्र नाथ महतो ने कहा कि पत्रकार कोरोना के दौरान संकट से जुझ कर अपनी जान और  परिवार को छोड़ कर सरकार और व्यवस्था को लगातार जागरूक करते रहा है परन्तु वही  पत्रकार हर सुविधाओं से  वंचित रहता है लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में कार्य करने वाले कारों के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून और कोरोना वैश्विक महामारी मरने वालों पत्रकारों को उचित मुआवजा और उसके आश्रितों को हर संभव सहयोग करने के लिए आगे रहेंगे l

स्थानीय विधायक भानु प्रताप सिंह ने कहा कि मेरे द्वारा विधानसभा में पत्रकार सुरक्षा कानून और कोविड-19 मिलकर पत्रकार का शव को आर्थिक सहयोग करने मुखालफत की जाती रही है l  उन्होंने कहा कि मैं पत्रकार और जो संगठन को साथ हूं और जमीनी स्तर पर भी मैं उनके लिए आवाज उठाता रहूंगा , 

भारती श्रमजीवी पत्रकार संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय सिंह ने कहा कि मैं पिछले 10 वर्षों से प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के अध्यक्ष पद पर तरस रहा हूं और अब ग्रामीण पत्रकारों के साथ जोड़कर देशभर में एक नया आयाम खड़ा करने का निर्णय ले रखा हूं l  संघ के राष्ट्रीय महासचिव शाहनवाज हसन ने कहा कि कोविड-19 देश के 300 पत्रकार मैं अपने कार्य के दौरान मौत को गले लगाया है और झारखंड में 30 पत्रकारों अकाल मृत्यु हुई है जिसके लिए सरकार उनके परिजनों को 10 लाख मुआवजा और आश्रित को सरकारी नौकरी देने का काम करें स्वागत भाषण गिरिधर मिश्रा तथा धन्यवाद ज्ञापन राष्ट्रीय संयुक्त सचिव एस एन श्याम की l  इस कार्यक्रम में देश के 14 राज्य के पत्रकारों ने हिस्सा लिया l  आइटम को संबोधित करने वालों में एचडी सागर राइस ( तमिल नाडु ) गिरिधर शर्मा ( उत्तराखंड ) नितिन चौबे ( छत्तीसगढ़ ) जितेंद्र प्रशांत ( राजस्थान ) रंजय कुमार दिनेश ( दिल्ली ) आदि ने संबोधित किया l  कार्यक्रम में सुधांशु कुमार सतीश प्रभात कुमार अनूप कुमार सिंह अनमोल कुमार अमित कुमार नीरज कुमार आदि ने भाग लिया l  कार्यक्रम का शुभारंभ स्वागत गीत और सम्मान समारोह से हुआ l  कार्यक्रम का संचालन नीता जी ने की l

कोई टिप्पणी नहीं