बिहार सरकार के निरंकुश नीतियों की वजह से प्रतिवर्ष सफाई कर्मियों को जाना पड़ता है हड़ताल पर : राजेश राठौड़



पटना। प्रदेश भर में जारी सफाई कर्मचारियों के हड़ताल के कारण राज्य स्तर में महामारी भी फैल सकती है। इस आशय को लेकर बिहार कांग्रेस मीडिया कमिटी के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने प्रदेश की नीतीश सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि राज्य भर में सफाई कर्मियों के हड़ताल की वजह से नारकीय स्थिति उत्पन्न हो गई है। इसके बावजूद नीतीश सरकार के द्वारा कोई पहल नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रतिवर्ष सफाई कर्मियों को राज्य सरकार के निरंकुश नीतियों की वजह से हड़ताल पर जाना पड़ता है। राजधानी समेत प्रदेश के अधिकांश जिले के नरक में तब्दील होने के उपरांत ही सरकार होश में आती है। उसके बाद ही समझौता वार्ता करती है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थिति में कोरोना काल के बाद कई अन्य महामारी के फैलने की आशंका है। इसलिए बिहार सरकार सफाई एवं स्वच्छता को लेकर अपने नजरिए में बदलाव करें। उन्होंने कहा कि सरकार के हुक्मरान तो साफ-सुथरी व्यवस्था में रहते हैं। मगर सफाई कर्मियों की हड़ताल की वजह से राज्य के आम निवासियों को नारकीय स्थिति में गुजारा करना पड़ रहा है। ऐसे में सीएम नीतीश को स्वयं नगर विकास विभाग को निर्देश देना चाहिए कि सफाई कर्मियों के हड़ताल के खात्मे के दिशा में पहल करे। उन्होंने कहा कि प्रदेश स्तर पर सफाई कर्मियों के जायज मांगों की पूर्ति करने में नीतीश सरकार को कोताही नहीं बरतनी चाहिए।

कोई टिप्पणी नहीं