काला बिल्ला लगाकर शिक्षकों ने विद्यालय में किया विरोध प्रदर्शन।



नाला ( जामताड़ा)--अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विजेंद्र चौबे ,महासचिव राममूर्ति ठाकुर, जामताड़ा जिले के प्रमंडलीय राज्य उपाध्यक्ष वाल्मीकि कुमार,जिला अध्यक्ष शशि शेखर सिंह जिला महासचिव महेश्वर घोष के संयुक्त निर्देशानुसार मंगलवार को नाला प्रखंड के सभी विद्यालयों में सभी शिक्षकों ने काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया ।मालूम हो कि पिछले दिन राज्य के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव के बयान पर अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ ने विरोध प्रदर्शन किया ।शिक्षकों ने कहा कि कोरोना काल में भी पीडीएस दुकानों से लेकर अस्पताल ,चेक नाका ,वैक्सीनेशन में शिक्षकों ने अपनी सेवा दी है इस तरह का बयान गुरुजनों को अपमान है।शिक्षक विपरीत परिस्थिति में भी गांव देहात हर जगह अपनी ड्यूटी कर रही है उसके बावजूद भी निजी और सरकारी स्कूल के बीच इस तरह का  भेदभाव वाले बयान देना उचित नहीं है । शिक्षकों ने कहा कि निजी विद्यालयों में शिक्षकों की भूमिका बच्चों को पढ़ाने तक सीमित है जबकि सरकारी विद्यालयों में प्राथमिक शिक्षक को अध्यापन के अलावा शिशु गणना, पशु गणना सहित दर्जनों कार्य करवाए जाते हैं बावजूद सरकारी शिक्षकों पर माननीय मंत्री जी की इस प्रकार की प्रतिक्रिया हास्य पद है। शिक्षकों ने कहा कि जब तक वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव अपने बयान को वापस नहीं लेते हैं तब तक शिक्षक संघ की ओर से और उग्र आंदोलन किया जाएगा। मालूम हो कि इस अवसर पर नाला प्रखंड के मथुरा सहित विभिन्न विद्यालयों में शिक्षकों ने काला बिल्ला लगाकर झारखंड के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव के द्वारा दिए गए बयान का विरोध प्रदर्शन किया।इस अवसर पर शिक्षक सुधीर कुमार, खगेंद्र नाथ घोष ,अर्जुन गोरांई ,रौशन कुमार ,सत्येंद्र कुमार, वासुदेव यादव ,विजय कुमार सिंह , कृष्ण रजक, वैद्यनाथ पाल ,दयामय मंडल, सतीश कुमार गुप्ता, किशोर साधु ,लाल देव दास, वैद्यनाथ पाल, नवीन कुमार ,विनोद हेम्ब्रम, मोहम्मद मुस्ताक, जय कांत तिवारी ,मुकेश कुमार सिंह ,मुकेश शर्मा ,संजीव ठाकुर ,सोनाराम हेम्ब्रम , रामरतन मुर्मु, अरविंद यादव के अलावे सभी विद्यालय के शिक्षकों ने काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया।

कोई टिप्पणी नहीं