जमुई में प्रेमी जोड़े के फंदे पर लटकने को लेकर सवाल :पुलिस ने प्रेमिका के पिता को हिरासत में लिया



जमुई के झाझा थानाक्षेत्र के सहिया गांव के जगल में महुआ के पेड़ की डाल से दुपट्टे के सहारे फांसी पर लटके प्रेमी जोड़े की शव देख इलाके में सनसनी फैल गई। घटना मंगलवार सुबह की है। गांव के कुछ लोग जंगल की ओर गए तभी उनकी नजर एक महुआ के पेड़ से लटके युवक-युवती के शव पर पड़ी। लोगों ने शोर मचा कर आस-पास के ग्रामीणों को घटनास्थल पर बुलाया और घटना की सूचना झाझा थाना की पुलिस को भी दी। आस-पास के ग्रामीण और कुछ स्थानीय लोगों ने मृतक युवती और युवक की पहचान की। मृतक नाबालिग युवक धबटिया गांव निवासी तुलसी यादव का छोटा पुत्र 16 वर्षीय बालकिशोर कुमार के रूप में हुई जबकि मृत लड़की की पहचान बनजामा गांव निवासी राजेंद्र यादव की 15 वर्षीय पुत्री टिंकी कुमारी के रूप मे हुई। फंदे से लटकी युवती के मांग में सिंदूर लगा था। जिससे दोनों के आपस में शादी करने की बात की जा रही थी। इधर घटना की सूचना मिलते ही झाझा एसडीपीओ रविशंकर प्रसाद, थानाध्यक्ष राजेश शरण, एसआई वीरभद्र सिंह, विजय कुमार, दिलीप चौधरी दलबल के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर दोनों शव को पेड़ से उतारने के बाद अपने कब्जे में लेते हुए लोगों से पूछताछ की उसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए जमुई भेज दिया।

स्थानीय लोगों ने बताया कि एक दिन पहले से दोनों घर से गायब थे । अंदाजा लगाया जा रहा है कि एक दिन पहले दोनों ने भागकर शादी कर ली थी। दोनों के परिजन लगातार ढूंढ रहे थे। बताया जाता है कि युवक बचपन से नानीघर में रहकर पढ़ाई करता था। युवक व युवती दोनों एक साथ पढ़ाई कर रहे थे इसी दौरान दोनों के बीच प्रेम हो गया। गांव वालों ने बताया कि युवक और युवती के बीच पिछले दो साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था इस बात की जानकारी दोनों के परिजनों को भी थी। मृतक युवक का बड़ा भाई रामकिशोर कुमार ने बताया कि उसका छोटा भाई बालकिशोर बनजामा में अपने नानीघर में बचपन से रहा रहा था। वहीं रहकर वह पढ़ाई कर रहा था। दसवीं की परीक्षा उसने प्रथम श्रेणी से पास की और झाझा डीएसएम कालेज मे आइएससी में अपना नामांकन कराया था । सोमवार की शाम शाम 6 बजे से ही अचानक गायब हो गया था। उसकी खोजबीन की जा रही थी। खोजबीन के दौरान ही पता चला कि उसके नानीघर के पास के ही राजेंद्र यादव की पुत्री टिंकी भी लापता है।

इधर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय लोगों से पूछताछ की और मामले की जांच करनी शुरू कर दी है । पुलिस ने बताया कि युवक व युवती के गले में फंदा लगा था लेकिन दोनों के हाथ खुले थे , आम तौर पर फांसी लगने से हाथ की उंगलियां अकड़ने लगती है और मुठी बंद हो जाती है। वहीं एक ही दुपट्टे में फंदा लगाकर दोनों को लटकाया गया है जिससे पुलिस ऑनर किलिंग मान रही है। इस मामले में पुलिस ने मृतक युवती के पिता राजेंद्र यादव को हिरासत में ले लिया है।

कोई टिप्पणी नहीं