केंद्र सरकार लोगों को रोजगार देने में विफल साबित हुई:-संतोष स्वर्णकार



साहिबगंज:-भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कॉंग्रेस इंटक के जिला अध्यक्ष संतोष स्वर्णकार ने प्रधानमंत्री पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा की मोदी सरकार हर साल 2 करोड़ रोजगार देने में असफल रही है।एनडीए के मोदी सरकार अपने पहले के चार साल में रोजगार की औसत प्रगती सिर्फ1 .9प्रतिशत थी।2006 से 2009 के बीच मनमोहन सिंह सरकार मेंऔसत रोजगार वृद्धि 3.5 प्रतिशत थी।एनडीए की सरकार सरकारी में अर्धसरकारी एवं अन्य क्षेत्रों में रोजगार देने में काफी पीछे है।इतना हीं नहीं नोट बंदी का असर हर क्षेत्र के बेरोजगार लोगों पर पड़ा,यह एक चिंता का विषय होना स्वभाविक है।श्री स्वर्णकार ने कहा की रिसर्च फर्म सेन्टर फॉर मानीटरिंग इण्डियन एकोनॉमी के अनुसार अप्रेल 2021 में 70 लाख से ज्यादा लोगों को अपनी नौकरी गवानी पड़ी।इससे देश में बेरोजगारी दर 9.97 प्रतिशत पहुँच गई।श्री स्वर्णकार ने कहा की पुरे देश में बेरोजगरों की बाढ़ सी आ गई।लोग रोजगार के लिए दर दर भटक रहे हैं।कई लोकउपक्रम सहित अनेकों संस्थानो का निजीकरण किया जा रहा है।इससे लाखों लोगों के उपर रोजगार का संकट आ सकता है।कई कम्पनियां देश छोड़ कर बाहर जा रही है और कई छोटे बड़े उधोग धंधे बंद होने जा रही हैं।इससे संगठित एवं असंगठित क्षेत्रों में काफी बेरोजगारी बढेगी।इन सभी परिस्थितियों का आकलन करें तो तो देखने को मिलेगा की निश्चित रुप से केंद्र की एनडीय सरकार रोजगार देने के मामले में विफल साबित हुई है।


कोई टिप्पणी नहीं