निर्धारित मात्रा में बच्चों को नहीं मिलता चावल प्रबंधन ने कहा वाहन भाड़ा सहित अन्य खर्च में काटता जाता है



सारवां देवघर : सरकारी विद्यालय में निर्धारित मात्रा से कम चावल देने का मामला अभिभावकों के समक्ष कई बार आ चुका है लेकिन बीआरसी से लेकर विद्यालय तक प्रति बच्चे 800 ग्राम से 1 किलो 200 ग्राम तक काटा जाता है कहीं तो इससे भी अधिक अभिभावकों द्वारा पूछे जाने पर बताया जाता है कि जिस बोरे गोडाउन से जो वजन कह कर दिया जाता है इतना वजन नहीं निकलता इसके बाद वाहन भाड़ा कौन देगा बच्चों के चावल से ही से मैनेज किया जाता है ऐसा ही मामला आदर्श राजकीयकृत मध्य विद्यालय बंदाजोरी में मंगलवार को अभिभावकों के समक्ष आया ग्रामीण व अभिभावक गोपाल मांझी दर्शन नापित उज्जवल सिंह नानका मांझी शिव नारायण राय छात्रा पूजा कुमारी प्रिया कुमारी अन्य ने बताया कि जुलाई व अगस्त माह का बच्चों को दिए जाने वाला चावल विद्यालय प्रबंधन समिति के द्वारा वितरण किया गया इस दौरान पहली से पांचवी तक 4 किलोग्राम दिया गया वही छठी से आठवीं तक 6 किलोग्राम दिया गया जिसमें निर्धारित मात्रा से पहली से पांचवी तक 800 ग्राम कम दिया गया वही छठी से आठवीं तक 1 किलो 200 ग्राम कम दिया गया अभिभावकों द्वारा पूछे जाने पर बताया गया कि गोडाउन से जो वजन कह कर बोरा दिया जाता है उतना वजन नहीं निकलता है मां की वाहन भाड़ा कुल मिलाकर खर्च के तौर पर चावल काटा जाता है इसमें विरोध जताना उचित नहीं प्रभारी प्रधानाध्यापक अशोक कुमार सिंह ने बताया कि बीआरसी गोडाउन से जो वजन कह कर चावल का बोरा दिया जाता है उतना वजन नहीं निकलता है शर्मा से विद्यालय तक लाने का भाड़ा भी स्वयं से देना पड़ता है जिसके एवज में चावल काटा जाता है प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी बंदना कुमारी ने कहा कि बीआरसी गोडाउन से चावल निर्धारित मात्रा में दिया जाता है यहां से किसी प्रकार का कोई कटौती नहीं की जाती है लिखित आवेदन देने पर जांच उपरांत उचित कार्यवाही की जाएगी

कोई टिप्पणी नहीं