एप्रोच पथ के नाम सांसद ने ग्रामीणों की भूमि की ठगी: मुन्नम



देवघर । गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे द्वारा आज देवघर एयरपोर्ट के एप्रोच पथ का नाटकीय ढंग एवं असंवैधानिक तरीके से झूठी लोकप्रियता के लिए उद्घाटन करना और महज 100 मीटर की सड़क को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नामकरण देना घोर निंदनीय है। उक्त बातें कांग्रेस जिलाध्यक्ष मुन्नम संजय ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया। श्री संजय ने आगे कहा कि सांसद हवा हवाई की राजनीति करने में मशगूल रहते हैं। आम जनता की समस्याओं से लेना देना नहीं है। जिस सड़क को राज्य सरकार के सहयोग से जिला प्रशासन तकनीकी दृष्टिकोण से सुदृढ़ सड़क बनाने की और कार्य कर रही है, वहीं खुद जमीन हड़पने वाले सांसद गरीबों की जमीन को राजनीतिक प्रभाव से भोली-भाली जनता को बरगला एवं ठककर लेने का काम किया है तथा एक नाम मात्र  दिखावे का सड़क बनवाया है। जो किसी भी मायने में देवघर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का एप्रोच पथ के लिए कारगर सिद्ध नहीं हो सकता है। सांसद अपने राजनीतिक प्रभाव से पूर्व में सारवां रोड कर्णकोल से चांदडीह तेंतरिया रोड तक गरीब जनता के जमीन पर जबरन सड़क बनवाने का काम किया है। जिसका आज तक मुआवजा नहीं मिल पाया है। यह कितने दुख की बात है।इस कारण राज्य की हेमंत सोरेन की सरकार जमीन अधिग्रहण प्रक्रिया पूरी करके उच्च तकनीकी का रोड निर्माण करने की कार्य कर रही है। यह सांसद का ड्रामा बाजी दिखावे का है। सांसद को अगर सड़क बनानी ही थी तो उनको स्मरण करना चाहिए कि कितने जगहों पर उनके द्वारा शिलान्यास करके शिलापट्ट लगाया गया,जो आज भी दिख रहा है। लेकिन आज तक वहाँ सड़क नहीं बन पाया। अबतक अपने सांसद निधि से एक भी सड़क का निर्माण नहीं कराऐ हैं। कई गांव के ग्रामीण आज भी पक्की सड़क के लिए राह जोह रहा है, जहाँ रास्ता नहीं होने के कारण बच्चियां स्कूल नहीं जा पा रही हैं, रोगियों को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं जा पाता है। इनके द्वारा लिए गए गोद वाले पंचायत तथा गांव आज भी  किसी मसीहा का वाट जोह रहा है। खुद अपने निधि के पैसे अपने व अपने चंद पूंजीपति साथियों के हित में लगाने का काम किया। चाहे वो सोलर लाइट हो या फाइबर वाला विवाह भवन । जिसका आज एक भी बत्ती नहीं जल रही है और उनके बनाए विवाह भवन में एक भी विवाह नहीं हो पाया। गोड्डा सांसद यह भूल गए कि वह एक जनता के प्रतिनिधि हैं और देश के सबसे बड़े सदन में बैठते हैं तथा कानून बनाते हैं। ऐसे में कानून की धज्जियां उड़ाना घोर निंदनीय है। सांसद को आज दिल्ली के सरहदों पर बैठे हुए लाखों किसानों की चिंता नहीं दिखाई दे रही है।करोड़ों बेरोजगार सड़क पर घूम रहे हैं, इस और उनकी नींद नहीं खुल रही है। यहाँ तक ही नहीं गरीब,मजदूर, किसान,विरोधी सांसद अब दलित विरोधी भी बन गए हैं। पूर्व में बनाया गया एप्रोच पथ जिसमें गरीबों और दलितों की जमीन गई है और आज तक उन्हें मुआवजा नहीं मिल पाया है, जो दुर्भाग्य की बात है। हम ऐसे सांसद की घोर नियम विरोधी क्रियाकलाप की कड़ी निंदा करते हैं। 

यह सड़क तकनीकी दृष्टिकोण से उच्च गुणवत्ता वाली सड़क बनेगी। ऐसे में इस प्रकार का कार्य कर गोड्डा सांसद ने सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का काम किया है। इसके लिए जिला प्रशासन से हमारी मांग है इन पर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने का और गरीबों की जमीन को ठगने का एक ओर मुकदमा दर्ज करे।

कोई टिप्पणी नहीं