डिस्ट्रिक्ट टास्क फ़ोर्स की बैठक हुई आयोजित।



साहिबगंज:-- उपायुक्त रामनिवास यादव की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभागार में संबंधित प्रखंडों के चिकित्सा प्रसार पदाधिकारी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारीयों के साथ कोविड टीकाकारण, वृहत पैमाने पर सैंपल जांच  टीकाकरण एवं सवास्थ्य संबंधित कार्यो के क्रियान्वयन हेतु डिस्ट्रिक्ट टास्क फ़ोर्स की बैठक आयोजित की गई।


आगामी पल्स पोलियो अभियान की तैयारियों की समीक्षा:


 उपायुक्त श्री यादव ने प्रखंड वार पल्स आगामी पल्स पोलियो अभियान की तैयारियों की समीक्षा की जिसमें बताया गया कि 26, 27 एवं 28 सितंबर को जिले में राष्ट्रीय पल्स पोलियो अभियान के तहत 0 से  05 वर्ष की आयु के सभी बच्चों को दो बूंद पोलियो की दवा पिलाई जाएगी। इसी संबंध में बताया गया कि प्रखंड स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक करते हुए माइक्रो प्लान बनाया गया है।साथ ही वैक्सीनेटर का प्रशिक्षण एवं घर-घर जाकर दवा पिलाई जाने के संबंध में भी प्रशिक्षण कराया गया है इसकी उपस्थिति की जानकारी लेते हुए उपायुक्त ने वैसे प्रखंड जो माइक्रो प्लान उपलब्ध नहीं करा पाए हैं, उन्हें तत्काल माइक्रोप्लान उपलब्ध कराते हुए पल्स पोलियो अभियान की सफलता से क्रियान्वयन हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए।


रूटीन इम्यूनाइजेशन की समीक्षा:


उपायुक्त ने बैठक के दौरान नियमित टीकाकरण की समीक्षा करते हुए प्रखंड वार रूटीन इम्यूनाइजेशन के लिए चलाए जाने वाले सेशन की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने सभी एमओआईसी से नियमित टीकाकरण को सुचारू रूप से चलाते रहने एवं कोई भी सेशन को न छोड़ते हुए सभी बच्चों को आवश्यक टीकाकरण करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि सभी एमओआईसी संबंधित सीएचसी, एचएससी.एवं अन्य अस्पतालों में कर्मियों की मॉनिटरिंग करें।


कोविड-19 की समीक्षा:


उपायुक्त ने कोविड-19 के प्रसार को रोकने हेतु जिले में चलाए जा रहे हैं सैंपल टेक्स्ट एवं सैंपल कलेक्शन से संबंधित समीक्षा की। जहां उपायुक्त ने सभी अंचलाधिकारीयों को टेस्टिंग की गति को बढ़ाएं रखने रेलवे स्टेशन तथा अन्य जिलों या राज्य से मिलने वाले चेक नाका टेस्टिंग करने, आरटी पीसीआर हेतु अधिक से अधिक सैंपल कलेक्ट कर जिले को भेजने का निर्देश दिया। वहीं उन्होंने सभी एमओआईसी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारियों को समन्वय स्थापित कर अपने-अपने क्षेत्रों में अधिक से अधिक टीकाकरण करने प्रथम डोज़ के बाद दूसरे डोज़ का समय हो जाने वाले व्यक्तियों को चिन्हित कर उन्हें टीका लगवाने सुदूरवर्ती इलाकों में लोगों को प्रेरित करते रहने का निर्देश दिया।


ज़िले में 20 सितंबर से 25 अक्टूबर तक टीबी मरीजों की पहचान अभियान चलाया जाएगा:


उपायुक्त ने बताया गया कि जिले में टीबी मरीजों को चिन्हित करने एवं इसके फैलाव से बचाव हेतु टीबी मरीज खोज अभियान ज़िले में 20 सितंबर से 25 अक्टूबर तक चलाया जाएगा। इसी संबंध में जानकारी देते हुए बताया गया कि इस अभियान के तहत घर-घर जाकर सर्वे करते हुए टीबी के एक्टिव मरीजों की पहचान की जाएगी, इसके लिए माइक्रो प्लान बनाते हुए टीम गठित की गई है जो जिले की लगभग आधी आबादी का टी0बी0 जांच करेंगे।इस क्रम में बताया गया कि अभियान के तहत एक्सरे टेस्ट एवं ट्रू टेस्ट के जरिए टीवी मरीजों की पहचान की जाएगी एवं उन्हें आवश्यक उपचार उपलब्ध कराया जाएगा इसी बाबत उपायुक्त श्री यादव ने संबंधित पदाधिकारियों को ट्रूनेट मशीन से टीबी की जांच कराने, लैब टेक्नीशियन से जांच कार्य कराते रहने तथा अन्य आवश्यक दिशा निर्देश दिए।


कालाजार को समाप्त करने हेतु आईआरएस छिड़काव कार्य की समीक्षा:



उपायुक्त ने जिले में हो रहे कालाजार को खत्म करने हेतु चलाए जा रहे हैं आईआरएस छिड़काव से संबंधित समीक्षा भी की गई। जिसमें पाया गया कि विभिन्न प्रखंडों में आईआरएस का छिड़काव किया जा रहा है, परंतु अभी भी माइक्रो प्लान पर सही पर सही अमल ना हो पाने के कारण कई ग्रामीण अपने घरों में छिड़काव कार्य नहीं करा रहे हैं।इसी संबंध में बताया गया कि दूरदराज के इलाकों में बिना पूर्ण रूप से छिड़काव किए ही वैसे घरों को पूर्ण छिड़काव वाले मानकों की पंक्ति में रखा गया है उपायुक्त श्री यादव ने कालाजार समाप्त करने के उद्देश्य से प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं एमआईसी को संबंधित क्षेत्रों में आईआरएस छिड़काव की सही मॉनिटरिंग करने तथा वैसे गांव जहां लोगों ने घरों में छिड़काव होने नहीं दिया है वहां ग्राम प्रधान एवं जनप्रतिनिधियों आदि की सहायता से लोगों को प्रेरित करते हुए पुनः छिड़काव कार्य सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया।बैठक में उप विकास आयुक्त प्रभात कुमार बरदियार, अपर समाहर्ता अनुज कुमार प्रसाद, सिविल सर्जन डॉ अरविंद कुमार,सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, सभी एमओआईसी, डीपीएम अनिमा किस्कू, डीडीएम तौशिफ एवं अन्य उपस्थित थे।


कोई टिप्पणी नहीं