उपायुक्त ने देवीपुर प्रखण्ड के भोजपुर पंचायत के जोगीडीह व भोजपुर गांव का निरीक्षण किया



 उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री द्वारा आज देवीपुर प्रखंड अंतर्गत भोजपुर पंचायत के भोजपुर गाँव के लोहारगिरी सेड, कलस्टर एवं लघु कुटीर उद्योग स्थल का निरीक्षण कर उसे बढ़ावा देने के उदेश्य से संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया। साथ हीं उन्होंने लघु कुटीर उद्योग को विकसित करने के अलावा यहां के निर्मित सामानों को देवघर मार्ट से जोड़ने का निदेश संबंधित अधिकारियों को दिया, ताकि इन उद्योगों से जुड़े लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार के साथ-साथ अधिक से अधिक लोगो को स्वरोजगार से जोड़ा जा सके।

इसके अलावे उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने जोगीडीह गांव का निरीक्षण करते हुए मिट्टी से बनाये जाने वाले बर्तन व अन्य उपयोग में आने वाली सामानों को देखकर प्रसन्नता जाहीर करते हुए कहा कि महिलाओं की भागीदारी सराहनीय और हमारे समाज के लिए अनुकरणीय है। आगे उन्होंने संबंधित अधिकारियों को कलस्टर विकास पर जोर देते हुए गांव के सभी परम्परागत कारीगरों को देवघर वेबसाईट से जोड़ने का निदेश दिया, ताकि जिले की आवश्यकता के अनुरूप लोहार, कुम्हार आदि परम्परागत कारीगरों को बेहतर बाजार उपलब्ध कराते हुए उन्हें आत्मनिर्भर बनाये जा सके। इस दौरान ग्रामीणों से बातचीत करते हुए उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि कुटीर उद्योग को बढ़ावा दिये जाने हेतु आवश्यक है कि यहाँ के महिलाओं द्वारा स्वयं सहायता समूह बनाकर कार्य किया जाय एवं उनके द्वारा बनाये गये सामानों को बाजार तक भेजने के लिए उचित इंतजाम जिला प्रशासन द्वारा किया जायेगा; ताकि तैयार किये गये माल का अधिक से अधिक सप्लाई हो सके और कुटीर उद्योग को भी बढ़ावा मिले। साथ हीं उपायुक्त ने जिले के सभी कार्यालय प्रधानों से भी प्लास्टिक या पेपर के कप की जगह मिटटी के कुल्हड़ का प्रयोग करने को कहा। आगे उन्होंने कहा कि प्राचीन काल में माटी के बर्तन प्रयोग में लाए जाते थे। आज आधुनिकता की चकाचौंध में इन बर्तनों से दूरी रही है। आज भी मटके के पानी स्वास्थ्य के मापदंडों पर खरा उतरता है। इसके अलावा इन बर्तनों से स्वास्थ्य पर किसी प्रकार दुष्प्रभाव नहीं होता तथा हमें अपनी प्राचीन संस्कृति को संजोये रखने में सहायक होता है। अगर हम ज्यादा से ज्यादा मिट्टी के बर्तन प्रयोग करेंगे तो एक तरफ जहां पर्यावरण को फायदा होगा वहीं हमारा शरीर भी स्वस्थ्य रहेगा।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्री रवि कुमार, प्रखण्ड विकास पदाधिकार देवीपुर श्री अभय कुमार, डीडीएम नाबार्ड, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी रोहित कुमार विद्यार्थी, प्रखण्ड उद्यमी समन्वयक विक्रमादित्य एवं संबंधित विभाग के अधिकारी व कर्मी आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं