बाबा मंदिर को लेकर अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा की बैठक



सर्वसम्मति से छह सूत्री प्रस्ताव पारित,

मंदिर में सभी प्रकार के धार्मिक अनुष्ठान की अनुमति की मांग

देवघर 21 सितंबर: स्थानीय शिवगंगा तट स्थित श्रीगणेश कला मंदिर में 'अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा ' की बैठक हुई। महासभा के राष्ट्रीय संरक्षक दुर्लभ मिश्र की अध्यक्षता में हुई बैठक में बैद्यनाथ मंदिर से संबंधित छह सूत्री प्रस्ताव पारित किये गए। महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पं. बिनोद दत्त द्वारी द्वारा संचालित बैठक के दौरान मंदिर प्रांगण में सभी प्रकार के धार्मिक अनुष्ठान आयोजित करने की अनुमति दिए जाने की मांग की गई। इसके अतिरिक्त मंदिर के तीनों दरवाजा ( सिंह दरवाजा, पूरब व पश्चिम दरवाजा) को खोले जाने, जलार्पण हेतु भक्तों के लिए निर्धारित संख्या एक हजार से बढ़ाकर पांच हजार प्रति दिन तक करने,प्रत्येक दिन एक हजार 'शीघ्र दर्शनम' के आधार पर अतिरिक्त व्यवस्था करने,विगत वर्ष की भांति ईपास के बिना आये श्रद्धालुओं को 11 बजे दिन के बाद से पट बंद होने तक जलार्पण करने की अनुमति दिए जाने की मांग की गई। इसी क्रम में पौनेदार जैसे नाई, हजाम,माली,भंडारी,ढोलिया आदि को मंदिर प्रांगण में आने-जाने की अनुमति दिए जाने की भी मांग की गई। बैठक में महासभा के वरीय सदस्यों में श्री गोपाल महाराज समेत गोरन महाराज,प्रेमनाथ कुंजीलवाल,खीरा श्रृंगारी,रामनाथ नरौने, प्रेमनाथ पांडेय,पन्नालाल मिश्र,नागेश बलियासे,मोहन ठाकुर,जयकृष्ण झा,सागर सरेवार,विजय झा,गोपाल तिवारी,हीरा पंडित,मिथिलेश मिश्र,कार्तिक झा एवं मणिलाल अड़ेवार आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं