स्वर सम्राज्ञी लता मंगेशकर को कलाकारों द्वारा जन्मदिन की शुभकामनाएँ भेजी गई



देवघर : स्थानीय विवेकानंद शैक्षणिक, सांस्कृतिक एवं क्रीड़ा संस्थान तथा योगमाया मानवोत्थान ट्रस्ट के युग्म बैनर तले देश भर में सुर सम्राज्ञी लता मंगेशकर का जन्मदिन पर रंगभरो प्रतियोगिता का आयोजन किया गया और कलाकारों द्वारा उन्हें प्रेषित भी किया जा रहा है। मौके पर विवेकानंद संस्थान के केंद्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रदीप कुमार सिंह देव ने लता के सम्बंध में कहा - लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर, 1929 को इंदौर में हुआ था। वे भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका हैं, जिनका छ: दशकों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा पड़ा है। हालाँकि लता जी ने लगभग तीस से ज्यादा भाषाओं में फ़िल्मी और गैर-फ़िल्मी गाने गाये हैं लेकिन उनकी पहचान भारतीय सिनेमा में एक पार्श्वगायक के रूप में रही है। अपनी बहन आशा भोंसले के साथ लता जी का फ़िल्मी गायन में सबसे बड़ा योगदान रहा है। आयोजित रंगभरो प्रति प्रतियोगिता में वर्ग सप्तम से दशम तक, ग्रुप ए में राजकीय कन्या मध्य विद्यालय, गोड्डा, झारखंड की छात्रा रोशनी कुमारी को प्रथम, बिहार की रंजू कुमारी को द्वितीय, पश्चिम बंगाल के रणदीप चटर्जी को तृतीय, गोड्डा, झारखंड की दिव्या दीक्षा को चतुर्थ, जयपुर की मृणालिनी प्रिया को पंचम, साथ ही गीता देवी डी ए वी पब्लिक स्कूल, देवघर की आराध्या प्रिया, सुकृति कुमारी ; संत अल्फोंसा स्कूल, दर्दमरा, बिहार के स्वयं जायसवाल, छपरा के राजू नन्दन; पश्चिम बंगाल की प्रिया मुखर्जी, शिवांशु सरकार व अन्य को सांत्वना पुरस्कार के लिए चयनित किया गया। ग्रुप बी, ओपन टू ऑल में पश्चिम बंगाल के शांतनु राय चौधुरी को प्रथम, कुशमाहा, मधुपुर की अदिति कुमारी को द्वितीय, पंजाब की हर्षिता सिंह को तृतीय एवं लगभग दस विद्यार्थियों को सांत्वना पुरस्कार के लिए चयनित किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं