राष्ट्रीय नारायणी सेना के सदस्य एक मां ने अपना रक्तदान कर दी अपनी ही बेटी को जीवनदान



चित्तौनोड़िया निवासी  पूनम देवी जो बच्चा जन्म देने के बाद बी पॉजिटिव रक्त की जरूरत पड़ी जिनकी जानकारी  राष्ट्रीय  नारायणी सेना के जिला अध्यक्ष अरूप चक्रवर्ती को हुआ और तुरंत संज्ञान में लिया  की सेना रक्तदान के लिए तैयार हुवे  पूनम देवी की मां देबी देवी ने  अपनी स्वेच्छा जताई की अपनी बेटी के लिए  मैं रक्तदान करूंगी

देबी देवी ने कहीं  राष्ट्रीय नारायणी सेना जब मेरे साथ खड़े हैं तो मेरी हिम्मत दोगुनी हो गई है और मैं चाहती हूं कि अपनी बेटी की रक्त की कमी को एक  मां ही पूरा करें की और भी महिलाएं जागरूक हो की अपने ही घर परिवार के सदस्य अपने घर परिवार के लिए रक्त दान करे, जरूरत पड़ने पर राष्ट्रीय नारायणी सेना हम सभी के साथ खड़े हैं

सेना के अध्यक्ष अरूप चक्रवर्ती ने कहा मां से बड़ा रक्षा कवच कोई नहीं हो  सकती ऐसी मां की जज्बे हर मां को होनी चाहिए ,कहते हैं भले ही बेटा कु,बेटा  हो सकता है ,लेकिन माता कु,माता नहीं होता  देबी देवी ने यह साबित कर दिखाया

महिलाओं में भी  किसी से कम नहीं है और महिलाएं भी रक्तदान कर सकती है वो, जुनून वो, हिम्मत हर महिलाओ मे है ,जरूरत है तो सिर्फ उसे  अच्छे राह दिखाने की

मौके पर उपस्थित सदस्यगण सुनील कुमार झा, राजू वर्मा, सुजीत राणा , पंचानन राणा, गोपी कुमार रामानी, रोहित कुमार रामानी, दीपू राज, सुनील कुमार गुप्ता , समीर कर्म्हे, आदि उपस्थित थे

कोई टिप्पणी नहीं