नदियों और तालाबों में गिराया जा रहा है नालियों का गंदा पानी



देवघर-शहर के चिर परिचित समाज सेवी सूरज झा जहां एक ओर असहाय और जरूरतमंदों की सेवा के लिए जानें जाते हैं वहीं शहर के धरोहरों को भी बचाने में जुटे रहते हैं और इसकी रक्षार्थ जानकारी पर वरिय अधिकारियों तक पहुंचाते हैं।वही सूरज झा ने अपने फेसबुक वॉल पर सोशल मीडिया के माध्यम से लिखा है,जहां एक तरफ माननीय उच्च न्यायालय का आदेश है कि राज्य के सभी नदियों तालाबों की साफ-सफाई करवा कर अतिक्रमण मुक्त करवाना है।

वहीं दूसरी तरफ देवघर नगर निगम के द्वारा बत्तीसी तालाब में नाली का गंदा पानी गिराया जा रहा है साथ ही साथ मानसरोवर एवं जलसार तालाब की भी सफाई नहीं हो पा रही है।यहां के पदाधिकारी कोर्ट के आदेश को भी नहीं मानते हैं ?वहीं श्री झा ने वर्तमान नगर निगम के अधिकारियों के क्रियाकलाप पर सवाल उठाते हुए कहा है की क्या हर कार्यों के लिए शहर के आम जनता को कोर्ट की शरण में जाना होगा ?अगर हां तो फिर अधिकारियों की नियुक्ति और इन्हें इतना वेतन सरकार क्यों देती है?

बताते चलें कि बाबा नगरी बैधनाथ धाम में तालाब और नदियों सहित अन्य कई पौराणिक लाभकारी धरोहर हैं उन्हें बचाने की आवश्यकता है नहीं तो यह सभी अस्तित्व से खत्म हो जाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं