उपायुक्त ने जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक में अधिकारियों को कार्य में तेजी लाने का दिया निर्देशः- उपायुक्त



उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी श्री मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में जिला समन्वय समिति की बैठक का आयोजन जिला विकास शाखा के सभागार में किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं की प्रखण्डवार विस्तृत समीक्षा करते हुए जिला स्तर व प्रखण्ड स्तर के अधिकारियों को सख्त निदेशित करते हुए कहा कि पारदर्शिता के साथ चल रहे योजनाओं को गति दें, ताकि तय समयानुसार योजनाओं को पूर्ण किया जा सके।

इसके अलावे समीक्षा बैठक के क्रम में उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने जिला अंतर्गत नगद जमा अनुपात, क्रॉप ऋण, पी०एम० किसान, पी०एम०ई०जी०पी०, जेएसएलपीएस के साथ चल रहे विभिन्न कार्यों की वास्तुस्थिति से अवगत हुए। साथ हीं उपायुक्त ने सभी प्रखंडों में वित्तीय वर्ष 17-18 व 18-19 के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत स्वीकृत निर्माणाधीन आवासों को शीघ्र पूरा करने का निर्देश दिया। आगे उन्होंने कहा कि विभिन्न चरणों में लंबित कार्यों को पूरा कर किश्त राशियों का भुगतान करते हुए आवास निर्माण में आ रही अड़चनों को दूर करें। आवास निर्माण शुरू कराने के लिए लाभुकों को प्रेरित करें और भूमि विवादों को अंचल अधिकारियों द्वारा सत्यापन कर सुलझाएं। वहीं समीक्षा के दौरान उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया कि लाभुक को किस्त की राशि का भुगतान होने के बाद उसकी मॉनिटरिग करते रहें, ताकि समय अनुसार लाभुकों का आवास निर्माण कराया जा सके। 


■ मनरेगा के तहत चल रहे कार्यों को लेकर उपायुक्त ने दिये आवश्यक दिशा-निर्देश....

इसके अलावे बैठके दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने मनरेगा के तहत चल रहे कार्यों की प्रखण्डवार समीक्षा करते हुए कार्य में तेजी के साथ महिलाओं की भागीदारी अधिक से अधिक सुनिश्चित करने का निदेश संबंधित पदाधिकारियों व प्रखण्डों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को दिया गया। साथ हीं उपायुक्त ने कहा कि मनरेगा के तहत चल रही विकास योजनाओं को प्राथमिकता दें और जिन पंचायतों में स्कीम नहीं चल रही है, वहां योजनाओं की शुरुआत करें। आगे उपायुक्त ने कहा कि कुछ प्रखंडों में कार्य प्रगति अच्छी है, जबकि कुछ में गति देने की आवश्यकता है। 


■ मनरेगा के तहत ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को रोजगार से जोड़ेंः-उपायुक्त....

उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने समीक्षा के क्रम में दीदी बाड़ी योजना, डोभा निर्माण, कुआं निर्माण आदि योजनाओं में मनरेगा के तहत ज्यादा से ज्यादा मजदूरों को रोजगार दिए जाने की बात कही, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को आत्मनिर्भर बनाया जा सके। साथ हीं उपायुक्त ने राज्य सरकार की ओर से चलाई जा रही सभी योजनाओं का समय से निष्पादन और योग्य लाभुकों को उसका लाभ देने के लिए कार्यों को अभियान के रूप में लेने की बात कही, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को योजनाओं के लाभ से जोड़ा जा सके।


■ मनरेगा के तहत किए जा रहे कार्यों की जियो टैगिंग अनिवार्यः-उपायुक्त....

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि कोई भी योजना अपूर्ण नहीं रहे, यह पूर्ण रूप से सुनिश्चित कर लें। साथ हीं मनरेगा के तहत किए जा रहे कार्यों की जियो टैगिंग के संबंध में उपायुक्त ने कहा कि जितनी भी मनरेगा के तहत योजनाएं चल रही हैं, उनके कार्यों की जियो टैगिंग अवश्य कराना सुनिश्चित करें।


■ बैंक व संबंधित विभाग लाभुकों को लाभ दिलाने हेतु प्रखण्ड स्तर पर करें कैम्प का आयोजनः उपायुक्त....

 बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने बकरी पालन, मछली पालन, डेयरी उद्योग, किसान क्रेडिट कार्ड आदि के माध्यम से लाभुकों को लाभ दिलाने एवं आवेदनों के त्वरित निष्पादन हेतु संबंधित विभाग एवं बैंक के अधिकारियों को निदेशित किया कि लोगों को योजनाओं का लाभ व उनकी समस्याओं का समाधान आपसी समन्वय के साथ करें, ताकि लाभुकों को कार्यालय का चक्कर न लगाना पड़े। 


■ पी०एम०ई०जी०पी० से संबंधित आवेदनों को न रखें लंबितः-उपायुक्त....

 इसके अलावे समीक्षा के क्रम में उपायुक्त ने संबंधित सभी बैंक अधिकारियों को निदेशित किया कि पी०एम०ई०जी०पी० के आवेदनों को बिना वजह लंबित ना रखें, अगर किसी आवेदन में त्रुटि है तो उसे उचित कारणों के साथ इसे अस्वीकृत करें। साथ हीं उन्होंने इज ऑफ डूइंग बिजनेस प्रबंधक को निदेशित किया कि पी०एम०ई०जी०पी० के तहत आवेदित आवेदनों में किसी भी प्रकार की कमी पाई जाती है तो संबंधित बैंक एवं आवेदकों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए सामस्या का निदान करें, ताकि आवेदकों को समस्या का सामना न करना पड़े। 


■ स्वास्थ्य व पेयजल सुविधा पर दें विशेष रूप से ध्यानः-उपायुक्त...

जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक में उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री द्वारा  स्वास्थ्य विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा करते हुए प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना के तहत चल रहे कार्यों को लेकर आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया गया। साथ हीं उन्होंने स्वास्थ्य विभाग अन्तर्गत सभी राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम, आधारभूत संरचना, टीकाकरण, मानव संसाधन, टीबी अस्पताल निर्माण, अस्पताल में साफ सफाई, वित्तीय वर्ष 2020-21 में प्राप्त आवंटन के विरुद्ध खर्च आदि की समीक्षा करते हुए योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन का निर्देश दिया। 

इसके अलावे उपायुक्त ने लघु सिंचाई एवं पेयजल योजनाओं की समीक्षा करते हुए जिला अन्तर्गत चल रहे जल जीवन मिशन के कार्याें के वास्तुस्थिति से अवगत हुए। साथ ही हर घर में नल लगाये जाने के कार्यों को गति देने का निदेश संबंधित कार्यपालक अभियंता को दिया। आगे उन्होंने क्लिन देवघर के तहत थर्मोकाॅल मुक्त क्षेत्र बनाये जाने की दिशा में कार्य करने का निदेश जिला, प्रखण्ड व पंचायत स्तर के अधिकारियों को दिया। साथ हीं थर्माेकाॅल मुक्त क्षेत्र बनाते हुए दोना, पतल व कुल्हड़ के उपयोग को बढ़ावा देने के उदेश्य से सभी सरकारी कार्यक्रमों व बैठकों में इसका उपयोग करने का निदेश दिया। 


इस दौरान उपरोक्त के अलावे उप विकास आयुक्त श्री संजय सिन्हा, नगर आयुक्त श्री शैलेन्द्र कुमार लाल, अनुमंडल पदाधिकारी देवघर श्री दिनेश कुमार यादव, अनुमंडल पदाधिकारी मधुपुर श्री सौरव कुमार भुवानिया, असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ0 सीके शाही, अपर समाहर्ता श्री चन्द्र भूषण प्रसाद सिंह, जिला भू अर्जन पदाधिकारी श्री उमा शंकर प्रसाद, निदेशक डीआरडीए निदेशक श्रीमती नयनतारा केरकेट्टा, जिला आपूति पदाधिकारी श्री अमित कुमार, जिला कल्याण पदाधिकारी, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा कोषांग श्री परमेश्वर मुण्डा, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी श्री रवि कुमार, जिला सांख्यिकी पदाधिकारी, सभी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचल अधिकारी, जिला कार्यपालक अभियंता, ग्रा0वि0वि0 कार्य प्रमंडल देवघर, जिला परियोजना पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता, ग्रा०वि०कि0, भवन प्रमण्डल भवन निर्माण निगम लि0, कार्यपालक अभियंता विद्युत आपूर्ति प्रमण्डल, कार्यपालक अभिंयता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमण्डल, देवघर व मधुपुर, कार्यपालक अभियंता सिंचाई प्रमण्डल, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र, देवघर, कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई रूपांकण प्रमण्डल देवघर, कार्यपालक अभिंयता, पुनासी बांध पुनासी स्पीलवे प्रमण्डल, कार्यपालक अभिंयता पथ प्रमण्डल राष्ट्रीय उच्च पथ, जिला मत्स्य पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला शिक्षा अधीक्षक देवघर, अग्रणी बैंक प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक देवघर, जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला गव्य विकास पदाधिकारी, जिला उद्यान पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक जे०एस०एल०पी०एस०द्व जिला कीडा पदाधिकारी, जिला खनन पदाधिकारी, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी, सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, परियोजना निदेशक आत्मा देवघर आदि के साथ-साथ संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।


कोई टिप्पणी नहीं