हाजीपुर में एसपी कार्यालय के रिकार्ड रूम में शाट-सर्किट से लगी आग, कई महत्वपूर्ण फाइलें जली

 


जनादेश/हाजीपुर  स्थानीय कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित कंबाइंड बिल्डिंग में तीसरे तल्ले पर स्थित एसपी कार्यालय के हिन्दी विभाग के रिकार्ड रूम में शुक्रवार की सुबह आग लग गई। सुबह में टहलने निकले लोगों की नजर कार्यालय से निकल रहे धुएं पर पड़ी। इसके बाद मौके पर काफी संख्या में लोग जुट गए तथा इस घटना की सूचना सभी ने अपने-अपने स्तर से पुलिस, फायरब्रिगेड तथा विभिन्न कार्यालयों के कर्मियों को दी। इस सूचना के बाद कर्मियों में अफरातफरी मच गई तथा आनन-फानन में कर्मी, पुलिस पदाधिकारी एवं फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियां मौके पर पहुंच गई। सूचना पर फायर ब्रिगेड के असिस्टेंट स्टेट फायर आफिसर गौरव मंगला, वैशाली के पुलिस कप्तान मनीष एवं हाजीपुर सदर एसडीपीओ राघव दयाल के अलावा कई पुलिस पदाधिकारी, विभिन्न कार्यालयों के कर्मी, पुलिस लाइन के मेजर समेत काफी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गई। मौके पर आनन-फानन में एसडीआरएफ की टीम को भी बुला लिया गया। वहीं जिला फायर आफिसर सूरी चौहान ने भी मौके पर पहुंच मोर्चा संभाल लिया। घंटों कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया।

मौके पर मौजूद पदाधिकारियों ने रिकार्ड रूम का अवलोकन करने के बाद बताया कि प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि आग शाट-सर्किट से लगी है। शाट-सर्किट कंप्यूटर सेट से होने की संभावना व्यक्त की गई है। हालांकि, कुछ लोग पंखे से भी शाट-सर्किट से आग लगने की संभावना व्यक्त कर रहे थे। हालांकि, स्पष्ट तौर पर जांच के बाद ही इसका खुलासा हो सकेगा कि आग किन कारणों से लगी है। फिलहाल आग लगने के मामले में कारणों की जांच की जा रही है।

हाजीपुर कलेक्ट्रेट स्थित एसपी कार्यालय में आग लगने की सूचना पर मौके पर तत्काल फायर ब्रिगेड की कई गाड़ियां पहुंच गई। सभी संसाधन उपलब्ध हो जाने के बाद बचाव कार्य शुरू किया गया। भवन के दो तरफ से फायर ब्रिगेड के जवान सीढ़ी के रास्ते कार्यालय के पास पहुंचकर आग को नियंत्रित करना शुरू कर दिया। जवानों ने कड़ी मशक्कत के बाद कुछ ही देर में आग को नियंत्रित कर लिया। आग बुझाने के दौरान पानी की तेज धार से एसडीपीओ कार्यालय को भी काफी नुकसान पहुंचा है।

घटना में एसपी कार्यालय के रिकार्ड रूम में विभिन्न टेबल पर एवं उसके आसपास नीचे रखे गए दर्जनों फाइल समेत अन्य कागजात व सामान जलकर राख हो गए। वहीं टेबल पर रखे गए कई कंप्यूटर सेट भी जल कर राख हो गए। हालांकि रिकार्ड रूम के रैक पर रखा गया फाइल आंशिक रूप से जलने के बाद भी सुरक्षित बच गया है। यदि समय पर आग को नियंत्रित नही कर लिया जाता तो संभव था कि सभी फाइल जल कर राख हो जाता। इस मामले में जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि कई महत्वपूर्ण फाइल जल कर राख हुए है। वही कंप्यूटर सेट का हार्ड डिस्क सुरक्षित बच पाया है कि नहीं। अगलगी की घटना में कई कंप्यूटर सेट पानी की चपेट में आ गए। जिसे बचाव कार्य समाप्त होने के बाद उक्त कार्यालय से निकालकर एसडीपीओ के आवासीय कार्यालय पर रखा गया है।

कोई टिप्पणी नहीं