बेगूसराय: शिक्षा विभाग ने की 96 शिक्षकों पर कार्रवाई



बेगूसराय शि.प्र.। जिले में 96 शिक्षकों का वेतन काटने का आदेश डीईओ ने दिया है। बिहार सरकार शिक्षकों की उपस्थिति को लेकर गंभीर होती दिख रही है। बिना सूचना दिए स्कूलों से गायब रहने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई होनी शुरू हो गई है। नो पे फॉर नो वर्क के सिद्धांत पर शिक्षकों के विरुद्ध कार्रवाई करने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। ज्ञात हो कि शिक्षा विभाग ने सभी जिले के जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं डीपीओ को आदेश दिए हुए हैं कि विद्यालयों का औचक निरीक्षण कर उसी दिन रिपोर्ट विभाग को भेजें।


इसी को लेकर जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं डीपीओ के द्वारा जिले के कई विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण अवधि में जो भी शिक्षक अनुपस्थित पाए गए उन शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटने का आदेश दिया गया। 7 अगस्त से लेकर 27 अगस्त तक के निरीक्षण अवधि के दौरान गायब शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटने का आदेश दिया गया है। जिले में निरीक्षण होने से शिक्षक समय पर विद्यालय में उपस्थिति होने लगे हैं। विभाग को ऐसी कई शिकायतें मिलती रही है कि शिक्षक समय से विद्यालय नहीं आते हैं। ऐसी शिकायत शिक्षा विभाग को हमेशा मिलती रहती थी।


ज्ञात हो कि प्राथमिक शिक्षा निदेशक एवं माध्यमिक शिक्षा निदेशक ने सभी विद्यालयों का निरीक्षण समय-समय पर करने को कहा है। इसी को लेकर जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं डीपीओ ने कई विद्यालयों में औचक निरीक्षण  किया। औचक निरीक्षण के दौरान कई शिक्षक बिना सूचना के ही विद्यालय में अनुपस्थित थे। इसी कड़ी में 96 शिक्षक विभिन्न तिथि में विद्यालय में अनुपस्थित पाए गए उक्त संख्या 7 अगस्त से लेकर 27 अगस्त तक का है। इस कार्रवाई से शिक्षकों में भय व्याप्त है। जिसके कारण विद्यालय में अब ससमय में उपस्थित होने लगे हैं।


वहीं शिक्षा विभाग ने भी कमर कस ली है कि सभी शिक्षकों को विद्यालय में उपस्थित होना है जो विद्यालय में अनुपस्थित रहेंगे उन सभी शिक्षकों के ऊपर कार्रवाई करने से विभाग बाज नहीं आएगी। अब जिस तरह से विद्यालय में शिक्षकों की उपस्थिति होने लगी है। 96 शिक्षकों पर जो कार्रवाई हुई है वे प्राथमिक विद्यालय मध्य विद्यालय एवं उच्च विद्यालय के शिक्षक हैं।

कोई टिप्पणी नहीं