मधुपुर महाविद्यालय मैं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई 3 के द्वारा एक राष्ट्रीय सेवा वेबिनार का आयोजन किया गया!



मधुपुर विश्व साक्षरता दिवस के अवसर पर मधुपुर महाविद्यालय मधुपुर के राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई 3 के द्वारा एक राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार का विषय  "पढ़ेगा इंडिया तभी तो बढ़ेगा इंडिया" था। शिक्षा का मानव जीवन की आवश्यकता को ध्यान में रखकर इस विषय का चयन किया गया था। इस वेबिनार के मुख्य अतिथि माननीया कुलपति महोदया प्रोफेसर डॉ सोनाझरिया मिंज थीं। मुख्य वक्ता प्रोफेसर उषा शर्मा एनसीईआरटी, नई दिल्ली ने अपने विचार प्रस्तुत किए। अन्य वक्ता में प्रोफेसर अवधेश कुमार मिश्र इफ्लू, शिलांग से ऑनलाइन अपने विचार रखें। कार्यक्रम का प्रारंभ डॉक्टर रत्नाकर भारती प्रभारी प्राचार्य मधुपुर कॉलेज, मधुपुर के स्वागत भाषण से हुआ। उन्होंने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि 'शिक्षा विकास का मूल मंत्र है मानव के व्यक्तित्व का विकास शिक्षा से ही होता है, शिक्षा के द्वारा ही सामाजिक कुरीतियों को समाप्त किया जा सकता है'। वेबिनार में माननीया कुलपति महोदया ने शिक्षा के अहमियत से अवगत कराया तथा समाज के सभी वर्ग के लोगों को शिक्षित होने के लिए प्रेरित किया। वेबिनार के मुख्य वक्ता प्रोफेसर उषा शर्मा ने शिक्षा एवं साक्षरता के बीच समन्वय पर जोर दिया तथा प्रोफेसर अवधेश मिश्रा ने कई उदाहरणों द्वारा शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डाला। वेबिनार का संचालन  रंजीत कुमार प्रसाद, वाणिज्य विभाग, मधुपुर महाविद्यालय,  मधुपुर द्वारा किया गया। धन्यवाद ज्ञापन विश्वविद्यालय एनएसएस कार्यक्रम समन्वयक मेरी मार्ग्रेट टूडू द्वारा किया गया। इस वेबीनार की संयोजिका अनिता गुआ हेंब्रम (एनएसएस यूनिट 3 कार्यक्रम पदाधिकारी, मधुपुर महाविद्यालय मधुपुर) थीं। वेबिनार में डॉ भरत प्रसाद, डॉ रंजीत कुमार, डॉ अश्विनी कुमार, प्रोफेसर होरेन हांसदा, डॉ उत्तम शुक्ला, आशुतोष कुमार साथ में डॉ रंजीत कुमार सिंह साहिबगंज महाविद्यालय, साहिबगंज सहित भारत के कोने कोने से गणमान्य अध्यापक, छात्र-छात्राओं ने भाग लिया!

कोई टिप्पणी नहीं