जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने पटना जिला में पंचायत चुनाव के द्वितीय चरण के तहत नौबतपुर एवं बिक्रम मे 16 सितंबर से शुरु होने वाले नामांकन की तैयारी

 


पटना चुनाव की संपूर्ण व्यवस्था का  जायजा लेने हेतु नौबतपुर ,बिक्रम एवं विहटा का भ्रमण कर स्थलीय निरीक्षण किया ।इस क्रम मे जिलाधिकारी ने नामांकन स्थल, डिस्पैच सेंटर, बज्रगृह , मतगणना केंद्र,  सहित कई अन्य स्थलों का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को पूरी सुदृढ़ व्यवस्था के साथ चुनाव का  सफल  एवं सुचारू संचालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उल्लेखनीय है कि द्वितीय चरण का नामांकन 16 सितंबर से 22 सितंबर तक 11:00 बजे पूर्वाह् से 4:00 बजे अपराह् तक होगा।

  द्वितीय चरण के चुनाव के कार्यक्रम विवरणी निम्नवत है-

-नॉमिनेशन की प्रारंभ तिथि 16 सितंबर 2021

- नॉमिनेशन की अंतिम तिथि 22 सितंबर 2021

-संवीक्षा की तिथि 25 सितंबर 2021

- अभ्यर्थिता वापसी की अंतिम तिथि 27 सितंबर 2021

- मतदान की तिथि 8 अक्टूबर 2021

-मतगणना की तिथि 10 अक्टूबर एवं 11 अक्टूबर 2021

जिलाधिकारी ने सर्वप्रथम नौबतपुर प्रखंड सह अंचल कार्यालय जाकर सभी पांच पदों- मुखिया वार्ड सदस्य पंचायत समिति सदस्य पंच सरपंच के नामांकन के लिए चिन्हित स्थल तथा उस स्थल पर की गई व्यवस्था का निरीक्षण किया। जिला पार्षद का नामांकन अनुमंडल पदाधिकारी कार्यालय में होगा। इसके लिए अनुमंडल पदाधिकारी ही निर्वाची पदाधिकारी हैं।नौबतपुर प्रखंड मे पंचायत चुनाव के पांच पदों के नामांकन के लिए निम्न  रूप से पदवार स्थलों का चयन किया गया है।

पंच के लिए प्रखंड कल्याण कार्यालय।

सरपंच के लिए प्रखंड आत्मा कार्यालय।

वार्ड सदस्य के लिए प्रखंड मनरेगा भवन।

पंचायत समिति सदस्य के लिए बीआरसी भवन।

मुखिया के लिए प्रखंड निर्वाचन कार्यालय।

नौबतपुर प्रखंड अंतर्गत कुल 19 पंचायत हैं ।कुल मतदान केंद्रों की संख्या 257 है जिसमें 247 मूल मतदान केंद्र तथा 10 सहायक मतदान केंद्र हैं। दो आदर्श मतदान केंद्र हैं। कुल भवन की संख्या 193 है तथा दो चलंत मतदान केंद्र हैं। जिलाधिकारी ने सेक्टर के माध्यम से मतदान केंद्र का भौतिक सत्यापन कराने तथा केंद्र पर आवश्यक मूलभूत सुविधा की उपलब्धता का भी सत्यापन कराने का निर्देश दिया ।  कुल9 सहायक निर्वाची पदाधिकारी बनाए गए हैं। कुल मतदाता की संख्या 128800 है। नौबतपुर प्रखंड के 19 पंचायत मे 247 वार्ड ,25 पंचायत समिति क्षेत्र, तथा 3 जिला परिषद क्षेत्र हैं। यहां 136 पीसीसीपी, 19 सेक्टर, 19 क्लस्टर तथा 4 जोन है। माता मरछिया देवी अतिथिशाला नौबतपुर मे पीसीसीपी डिस्पैच सेंटर बनाया गया है।  नौबतपुर , मनेर एवं  बिहटा के  मतगणना  का कार्य बिहटा स्थित बाजार समिति मे.होगा। जिलाधिकारी ने बिहटा के बाजार समिति का भ्रमण कर स्ट्रांग रूम एवं मतगणना कार्य की तैयारी का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने दानापुर के एसडीओ एवं डीसीएलआर को मतगणना केंद्र पर सभी आवश्यक व्यवस्था समय से पूर्व सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है


जिलाधिकारी ने द्वितीय चरण के तहत विक्रम प्रखंड जाकर भी नॉमिनेशन की तैयारी सहित चुनाव संबंधी कई अन्य कार्यों के बारे में जानकारी प्राप्त की तथा स्थलीय निरीक्षण किया। 16 सितंबर से विक्रम प्रखंड के पंचायत चुनाव हेतु नामांकन कार्य शुरू होंगे। प्रखंड कार्यालय विक्रम में पंचायत चुनाव के नामांकन के लिए विभिन्न पदों के लिए चिन्हित पदवार स्थल निम्नवत है-


-प्रखंड सभाकक्ष के दक्षिणी भाग में वार्ड सदस्य का नामांकन होगा। इसके लिए चार काउंटर बनाए गए हैं।

-प्रखंड सभा कक्ष के उत्तरी भाग में मुखिया एवं सरपंच का नामांकन होगा जिसके लिए तीन काउंटर बनाए जाएंगे।

-प्रखंड कार्यालय के पुराना भवन के उत्तरी भाग में पंच का नामांकन कार्य होगा।

-सीडीपीओ कार्यालय मैं पंचायत समिति सदस्य का नामांकन कार्य होंगे इसके लिए दो काउंटर बनाए जाएंगे।

विक्रम प्रखंड अंतर्गत 13 सितंबर तक कुल 1367 एनआर कटा है।

जिसमे मुखिया के लिए 94, पंचायत समिति सदस्य के लिए 123, सरपंच के लिए 67, वार्ड सदस्य के लिए 790, पंच के लिए 293 एनआर कटा है।

विक्रम प्रखंड अंतर्गत कुल 16 पंचायत हैं जहां कुल मतदान केंद्रों की संख्या 217 है जिसमें 215 मूल मतदान केंद्र तथा 2 सहायक मतदान केंद्र हैं। भवनों की संख्या 169 है। आदर्श मतदान केंद्र की संख्या 2 तथा महिला मतदान केंद्र की संख्या 1 है। जिलाधिकारी ने सभी मतदान केंद्रों का भौतिक सत्यापन करने तथा केंद्र पर आवश्यक मूलभूत सुविधा की उपलब्धता का सत्यापन करने का निर्देश दिया है। पीसीसीपी की संख्या 100 , सेक्टर की संख्या 17, ईवीएम क्लस्टर सेंटर 17, जोन की संख्या 5 , सुपर जोन 1 है। विक्रम में सुरक्षित इवीएम सहित कुल ईवीएम की आवश्यकता 1996 है। वाहन की आवश्यकता 438 है। चुनाव कार्य के सफल संचालन हेतु प्रखंड स्तर पर कुल 20 कोषांग का गठन कर अधिकारियों एवं कर्मियों के बीच दायित्व का निर्धारण किया गया है।

विक्रम में 6 सहायक निर्वाची पदाधिकारी बनाए गए हैं। मतगणना का कार्य खिरी मोड़ स्थित आईटीआई में होगा तथा ईवीएम कमिशनिंग का कार्य डायट बिक्रम में होगा।

कोई टिप्पणी नहीं