उपायुक्त ने आत्मा शासकीय निकाय की 14वीं बैठक में अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश



उपायुक्त-सह-अध्यक्ष आत्मा, देवघर  मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में आत्मा शासकीय निकाय की 14वीं बैठक का आयोजन समाहरणालय सभागार में किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने किसानो को नए-नए तकनीको के माध्यम से खेती में दी जा रही सुविधाओं, प्रशिक्षण, किसानों का परिभ्रमण एवं कृषि की दिशा मेें आत्मा द्वारा किए जा रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया। 

इसके अलावे समीक्षा बैठक के दौरान उपायुक्त द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि किसानों को समय-समय पर जो प्रशिक्षण एवं परिभ्रमण आदि कराया जा रहा है। उसके उपरांत किसानों द्वारा उन प्रशिक्षणों का प्रयोग अपने खेती में किया जा रहा है या नहीं आदि बातों का समय-समय पर निरीक्षण कराते रहें एवं नये तकनीक के माध्यम से किसानों को खेती करने में किसी भी प्रकार की समस्या हो तो समन्वय स्थापित कर उसका समाधान करायें। आगे उपायुक्त द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि प्रशिक्षण हेतु वैसे किसानों का चयन किया जाए जो वास्तव में सीखने के इच्छुक हैं, तभी जाकर सही मायने में आत्मा द्वारा संचालित कार्यक्रम सफल होगा।

■ उपायुक्त ने एग्रो प्रोसेसिंग यूनिट और कोल्ड स्टोरेज चैन बनाने की दिशा में अधिकारियों को कार्य करने का दिया निर्देश.....

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री ने किसानों के फसल का उचित मूल्य दिलाने और उनकी आय बढ़ाने के उद्देश्य से संबंधित अधिकारियों को एग्रो प्रोसेसिंग यूनिट और कोल्ड स्टोरेज चैन बनाने की दिशा में कार्य योजना तैयार करते हुए उपायुक्त कार्यालय को अवगत कराने का निर्देश दिया, ताकि किसानों की आमदनी में वृद्धि के साथ फसल के उत्पादों मेें वैल्यू एडिशन होने से उनकी कीमत भी बढ़ेगी और स्थानीय स्तर पर कृषि क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। आगे उन्होंने कृषि से जुड़े संबंधित विभागों के अधिकारियों को सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजना के तहत बैंक से ऋण दिलाने में किसानों की सहायता करने तथा जिला स्तर पर अभियान चलाकर किसानों को प्रोत्साहित करने के निर्देश दिया। साथ ही उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि प्रखंड स्तर के किसानों को ग्रामीण क्षेत्रों में ही अपनी उपज को स्टॉक रखने की सुविधा मिले इसका विशेष रूप से ध्यान देने की आवश्यकता है। बैठक में उपायुक्त द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्पदा योजना की जानकारी देते हुए कहा कि यह योजना केंद्र सरकार की एक बहुआयामी योजना हैं जिसके माध्यम से किसानों को आर्थिक रूप से समृद्ध करने के साथ-साथ रोजगार के नए अवसर भी उपलब्ध हो सकेगा। उपायुक्त द्वारा उक्त योजना के संबंध में जिला कृषि पदाधिकारी को निदेश दिया कि इसका पूरे प्रखंड में व्यापक प्रचार प्रसार कराया जाय ताकि अधिक-से-अधिक किसानों बंधुओ को प्रधानमंत्री किसान सम्पदा योजना का लाभ मिल सके।

इस दौरान उपरोक्त के अलावे  डीआरडीए निदेशक श्रीमती नयनतारा केकेरकेट्टा, कृषि विज्ञान केन्द्र, सुजानी के वरीय वैज्ञानिक श्री आनंद तिवारी, जिला कृषि पदाधिकारी कमल कुमार कुजूर, एलडीएम श्री एस.एल बैठा, जिला मत्स्य पदाधिकारी श्री प्रशांत कुमार, दीपक, उप परियोजना निर्देशक आत्मा श्री मंटू,जिला गव्य तकनीकी पदाधिकारी श्री त्रिशूल प्रकाश सिंह, अलावा सभी प्रखंड के बीटीएम, एटीएम, एवं संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं