जामताड़ा साइबर पुलिस ने 11 साइबर अपराधियों को किया गिरफ्तार



जामताड़ा: साइबर अपराधियों के विरुद्ध प्रशासन के द्वारा लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में नारायणपुर और करमाटांड़ थाना के कुछ इलाकों में फीसींग के सूचना प्राप्त होते ही साइबर डीएसपी के नेतृत्व में एक टीम गठन कर रेड मारा गया।फिशिंग करते हुए रंगे हाथ 11 अपराधियों को धर दबोचा गया। इसकी जानकारी देने के लिए साइबर थाना में पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार सिन्हा के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस किया गया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार सिन्हा ने बताया कि साइबर थाना को सूचना प्राप्त हुआ था कि नारायणपुर करमाटांड़ थाना के कुछ इलाकों में साइबर अपराधियों के द्वारा फिशिंग की घटना को अंजाम दिया जा रहा हैं। इस पर साइबर डीएसपी के नेतृत्व में धावा दल का गठन किया गया। प्राप्त गुप्त सूचना के आधार पर उन जगहों पर रेड किया गया तो 11 साइबर अपराधी के द्वारा केवाईसी के नाम पर फर्जी अपडेट करते हुए रंगे हाथ पकड़े गए। इनके पास से 27 पीस मोबाइल,37 पीस सिम, विभिन्न बैंकों का 8 एटीएम कार्ड, दो चेक बुक,विभिन्न बैंकों के 8 पासबुक, एक साइबर अपराधी के पास आधार कार्ड, एक लैपटॉप और एक मोटरसाइकिल मिला। उन्होंने बताया कि साइबर अपराध करते हुए गिरफ्तार 11 में से 6 लोगों का प्रीवियस हिस्ट्री भी है। निरायणपुर थाना क्षेत्र के धर्मपुर गांव निवासी समीम अंसारी इससे पूर्व दो बार साइबर अपराध में जेल जा चुका है। वर्ष 2016 और वर्ष 2018 में।परवेज अंसारी भी साइबर अपराध में इससे पूर्व दो बार जेल जा चुका है। वर्ष 2016 और 2018 में। वही साइबर अपराधी मुस्ताक अंसारी पूर्व में वर्ष 2016 में साइबर के अपराध में जेल की हवा खा चुका है। फिरदोस अंसारी वर्ष 2018 में साइबर अपराध करने के जुर्म में जेल की हवा खा चुका है। पुलिस अधीक्षक लिपट सिन्हा ने कहा कि हम लोग जो ट्रेंड देख रहे हैं।साइबर अपराधी जेल से छूटने के बाद अच्छे नागरिक की तरह जीवन जीने के बजाय फिर साइबर अपराध में संलिप्त हो जाते है। हमारी यह कोशिश होगी कि जो लोग जेल से निकल रहे हैं उन पर भी निगरानी रखी जाए। उनके द्वारा क्षोभ प्रकट करते हुए कहा गया कि हमे साइबर अपराध में संलिप्त परिवार में एक नेक कार्य करने वाले सदस्य की तलाश है।जो साइबर अपराध में शामिल नहीं होता हो। उन्होंने कहा कि पूरा परिवार ही साइबर अपराध में शामिल दिखता है। बाप बेटा,भाई और भी नाते रिश्तेदार एक सिंडिकेट के तरह साइबर के अपराध को अंजाम दे रहे है। पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार सिंहा ने कहा कि बीते कुछ दिनों से साइबर थाना के द्वारा साइबर अपराध के विरुद्ध प्रशंसनीय कार्य हुआ है। टीम के नेतृत्व करता और धावा दल में शामिल सदस्यों को मेरे स्तर पर रिवार्ड दिया जाएगा और साइबर डीएसपी और इंस्पेक्टर को अलग से प्रशस्ति पत्र देने की कवायद की जाएगी।इसके साथ ही सरकार को भी इन्हें पुरस्कृत करने के लिए लिखा जाएगा।

साइबर अपराधी जिसकी गिरफ्तारी हुई

सुबल दास, विजय दास,

दीपक दास, पप्पू दास, करमाटांड़ थाना मटटार गांव का महेश्वर मंडल, नारायणपुर थाना धर्मपुर गांव के शमीम अंसारी, परवेज अंसारी ,मुस्ताक अंसारी, नारायणपुर थाना पतरोडीह गांव के फिरदोस अंसारी, अफताब अंसारी तथा नारायणपुर थाना अंतर्गत कालीपुर गांव के आलम अंसारी को एक जगह ग्रुप में बैठकर रंगे हाथ साइबरअपराध करते हुए गिरफ्तार किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं