प्रखण्ड, अंचल, थाना व पंचायत स्तर को सुदृढ़ और सरल बनाने की आवश्यकताः-उपायुक्त






उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री द्वारा आज देवघर जिले के पालोजोरी प्रखण्ड के मटियारा पंचायत अन्तर्गत शिमला गांव का निरीक्षण कर चल रहे विभिन्न योजनाओं के साथ-साथ जेएसएलपीएस की दीदियों द्वारा निर्मित बांस के सामग्रियों का अवलोकन किया गया। इस दौरान उपायुक्त द्वारा वहां के स्वयं सहायता समूह के महिलाओं द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए उन्हें और भी अच्छा करने हेतु प्रोत्साहित किया गया, ताकि उनके द्वारा निर्मित सामानों की ब्रांडिंग करते हुए देवघर मार्ट से जोड़ा जा सके। 

इसके अलावे उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने मौके पर उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह हम सभी के लिए बहुत हीं गर्व की बात है कि हमारे समाज की महिलाएँ अब दूसरों पर निर्भर न रह कर आत्मनिर्भर व स्वावलंबी बन रही है। इससे उनके आये स्त्रोत में वृद्धि तो हो ही रही है। साथ हीं महिला सशक्तिकरण का एक अच्छा उदाहरण भी प्रस्तुत हो रहा है। आगे उपायुक्त ने

शिमला गांव के महिलाओं द्वारा किये जा रहे कार्यों एवं उन्हें मुहैया करायी जा रही बुनियादी सुविधाओं आदि की जानकारी लेते हुए कहा कि वर्तमान समय में आवश्यक है कि जेएसएलपीएस की दीदियों से सीख लेते हुए इस क्षेत्र की अन्य महिलाएँ भी आगे आएँ। इससे उनका तो विकास होगा हीं साथ हीं समाज का भी विकास हो पायेगा। इसके अलावा उपायुक्त द्वारा स्वयं सहायता समूह के महिलाओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा गया कि बांस की टोकरी-सूप व घरेलू सजावट की चीजें जैसे- फूलदान, पांवदान आदि बनाते हुए स्व-रोजगार को बढ़ावा दिया जा सके। इससे रोजगार की संभावनाएँ तो बढ़ेंगे हीं साथ हीं लोगों के जीवन स्तर में सुधार भी आयेगा। साथ हीं उन्होंने कहा कि वहां की अन्य महिलाएँ भी एस0एच0जी0 ग्रुप से जुड़कर स्वरोजगार करें। इससे उन्हें अपने रोजगार हेतु बैंक से आसानी से ऋण मुहैया हो जायेगा। उन्होंने आगे कहा कि महिलाएँ अपने द्वारा निर्मित सामानों की बिक्री की चिंता न करें। एक बार सामान बन जाय तो उसके विक्रय के लिए बाजार भी उपलब्ध हो जायेगा। इस दिशा में जिल प्रशासन द्वारा जल्द ही देवघर मार्ट वेबसाईट को लांच किया जायेगा, जिससे कि घर बैठे दीदियों को अच्छा से अच्छा बाजार उपलब्ध कराया जा सके।



■ टीकना है, तो टीका लें के नारे को चरितार्थ करने में आप सभी जेएसएलपीएस की दीदियों का सहयोग सराहनीयः-उपायुक्त....

इसके अलावे उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने स्वयं सहायता समूह की दीदियों से बातचीत करते हुए कोविड टीकाकरण अभियान में अपना शत प्रतिशत सहयोग करने का आग्रह किया। साथ हीं हर घर में शौचालय और उसका नियमित उपयोग करने के प्रति ग्रामिणों को जागरूक उपायुक्त द्वारा किया गया। साथ हीं उपायुक्त ने थर्मोकाॅल व प्लास्टिक के उपयोग न करने की शपथ दिलाते हुए इसके जगह दोना-पतल का उपयोग करने का आग्रह ग्रामीणों से किया। आगे उपायुक्त ने  जेएसएलपीएस की दीदियों द्वारा लगाए जाने वाले महिला चौपाल के कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि जिस प्रकार यहां की महिलाएँ चौपाल लगाकर एक-दूसरे का जागरूक करने एवं सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी का प्रचार-प्रसार कर रही हैं, वह वास्तव में सराहनीय है। इससे महिलाएँ जागरूक तो होंगे हीं साथ हीं अपने हक के बारे में भी भली-भाँति जानकारी प्राप्त कर सकेंगी। वर्तमान समय में आवश्यक है कि इनसे सीख लेते हुए अन्य क्षेत्र की महिलाएँ भी इसी प्रकार चैपाल लगाकर कार्य करें। साथ हीं उपायुक्त ने गांव भ्रमण के क्रम में बांस बने जाने वाले सामग्रियों को देखते हुए कहा गया कि जिस प्रकार यहां की महिलाएँ आपस में स्वयं समूह बनाकर सूप, डाली, घर सजाने वाली बांस की वस्तुएँ आदि का निर्माण कर मुनाफा कमा रही हैं, वह वास्तव में बहुत हीं अच्छी बात है। इससे वे आत्मनिर्भर हो पा रही है एवं अपने आय से घर परिवार के लिए कुछ बचत भी कर पा रही है। महिलाओं द्वारा इस प्रकार का स्वरोजगार करने का सबसे बड़ा लाभ यह है कि उन्हें काम करने के लिए अपने घर से दूर नहीं जाना पड़ता है और वे अपने हुनर से हीं घर बैठे रोजगार कर पाती है। साथ हीं उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया कि ऐसे में आवश्यक है कि हम सभी अपने क्षेत्र की महिलाओं को इस प्रकार के स्वरोजगार हेतु प्रोत्साहित करें, ताकि उनके खाली पड़े समय का सदुपयोग हो सके। आगे उन्होंने कहा कि दीदियों द्वारा निर्मित सामानों की सही पैकिंग, ब्रांडिंग, लेबलिंग करते हुए देवघर मार्ट के अलावा सीधे बाजार तक उपलब्ध करा कर बीच के बिचैलियों की भागीदारी को खत्म करने की दिशा में कार्य करें, ताकि स्वयं सहायता समूह की दीदियों को और भी अधिक मुनाफा हो सकेगा। 

■ जन वितरण प्रणाली के दुकान का उपायुक्त ने किया औचक निरीक्षण....

शिमला गांव निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री द्वारा नरेगा के तहत चयनित कूप निर्माण के अलावा, प्रधानमंत्री आवास योजना एवं जिला परिषद द्वारा निर्मित जलमिनार का निरीक्षण करते हुए कार्यों की गुणवता का जायजा लिया। साथ हीं संबंधित अधिकारिेयों को आवश्यक व उचित दिशा-निर्देश दिया। इसके अलावे निरीक्षण के क्रम में जन वितरण प्रणाली दुकान का अवलोकन करते हुए उपायुक्त ने ग्रामीणों को दिये जाने वाले चावल व गैंहूं की गुणवता की जांच करते हुए वास्तुस्थिति से अवगत हुए। साथ हीं उन्होंने लाभुकों से भी आग्रह करते हुए कहा कि राशन लेते समय अपने सामने अनाज का वजन करायें और वजन कम मिलने पर तुरंत इसकी शिकायत प्रखण्ड या जिला स्तर पर करें।

■ उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने पालोजोरी प्रखंड कार्यालय का किया औचक निरीक्षण....

पालोजोरी प्रखण्ड निरीक्षण के क्रम में ऊपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री द्वारा प्रखंड कार्यालय व अंचल कार्यलय का औचक निरीक्षण किया गया। साथ ही कोरोना काल में कार्य के दौरान विशेष सावधानी और सतर्कता बरतते हुए अधिकारियो एवं कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। निरीक्षण के क्रम में उपायुक्त ने प्रखण्ड एवं अंचल के कार्यालय से संबंधित लेखा-जोखा का सत्यापन करते हुए विभिन्न योजनाओं से संबंधित प्रगति का निरीक्षण कर कार्यो को जल्द से जल्द पूर्ण करने का निदेश दिया। 

इसके अलावे उपायुक्त ने प्रखंड कार्यालय में उपस्थिति पंजी देखने के पश्चात उन्होंने कहा कि कार्य मे कोताही बरतने वाले पदाधिकारी एवं कर्मचारी किसी भी सूरत में बक्शे नही जाएंगे। समय पर कार्यालय पहुँच कर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करे, ताकि आम आदमी को अपने कार्यो को कराने में किसी तरह की समस्या न हो। निरीक्षण के क्रम में उन्होंने पेंशन से सबंधित मामलों को लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया ऐसे मामलों का समय रहते जल्द से जल्द निष्पादन करे। साथ ही सभी लंबित कार्यो को जल्द से जल्द निष्पादित करे।

इस दौरान मौके पर उपरोक्त के अलावे प्रशिक्षु आईएएस  अनिकेत सच्चान, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी  रवि कुमार, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, पालोजोरी  शिवाजी भगत, डीपीएम जेएसएलपीएस  प्रकाश रंजन, सीडीपीओ पालोजोरी, सहायक जनसम्पर्क पदाधिकारी  रोहित कुमार विद्यार्थी, तेजस्वनी क्लब के कॉर्डिनेटर एवं संबंधित विभाग के अधिकारी व कर्मी आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं