आंध्रप्रदेश काम करने गए सारठ निवासी युवक हुए साइबर ठगी के शिकार, खाते से उड़ा लिए एक लाख चार हजार



सारठ : काम करने आंध्र प्रदेश गये सारठ थाना क्षेत्र के सधरिया गांव निवासी राहुल कुमार सिंह साइबर ठगी का शिकार हो गया। भुक्तभोगी ने फोन करके बताया कि वो साल 2017 से आंध्रप्रदेश के चितौड़ जिला के तिरुपति थाना क्षेत्र के जूनगलपाली  रोड एरपेड़ू स्थित डेक इफ्रास्ट्रक्चर इंडिया लिमिटेड नामक कंपनी में काम करता है। बताया कि रविवार सुबह लगभग 10 बजे  8617603676 अज्ञात नंबर से उनके मोबाइल में कॉल आया । कॉल करने वाले व्यक्ति ने अपने आपको भारतीय स्टेट बैंक पूना कार्यालय का अधिकारी अभिषेक शर्मा बताया और राहुल कुमार सिंह का भारतीय स्टेट बैंक का योनो एप अपडेट करने अन्यथा ट्रांजेक्शन बन्द कर देने की बात कही। भुक्तभोगी उसके झांसे में आ गया और उनके द्वारा बताए गए एक अन्य एप को डॉउनलोड कर लिया उसके बाद उस एप को इंस्टाल करने के लिए ओटीपी मांग कर उन्हें कुछ प्रोसेस करने को कहा और देखते ही देखते भुक्तभोगी को फोन करने वाले व्यक्ति द्वारा ऑपरेट किया जाने लगा। भुक्तभोगी युवक जब तक कुछ समझ पता तब तक उनके मोबाइल पर 50,000 करके दो बार और 4000 रुपए एक बार कुल 1,04000 रुपए ट्रांसफर करने का मैसेज आ गया। जिसके बाद बात कर रहे व्यक्ति ने बोला जो होना था हो गया। उसके बाद युवक द्वारा उस नंबर पर दोबारा संपर्क करने का कोशिश किया, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया। उसके बाद भुक्तभोगी युवक अपने सहयोगी के साथ तिरुपति थाने पहुँचकर मामले की लिखित शिकायत की है। वहीं युवक के पिता महेश प्रसाद सिंह ने सारठ थाने में आकर भी मामले की लिखित जानकारी दी है। लेकिन घटना स्थल यहाँ नहीं होने के कारण उनकी शिकायत दर्ज नहीं हो पाई। भुक्तभोगी ने रोते हुए बताया कि उनकी आर्थिक स्थिती ठीक नही है उसने अपने वर्षों की गाढ़ी कमाई को घर बनाने के लिए पाई-पाई जमा करके रखा था। जिसको साइबर ठगों ने मिनटों में उड़ा लिया अब उसके समक्ष घर बनाने के लिए पैसा कहाँ से आएगा। युवक ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाते हुए आरोपी को पकड़ने की माँग की है।

कोई टिप्पणी नहीं