कृषि यंत्रीकरण प्रोत्साहन योजना के तहत झारखंड विधानसभा अध्यक्ष ने एसएचजी की महिलाओं के बीच किया मिनी ट्रैक्टर का वितरण।



नाला (जामताड़ा)--कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग झारखंड तथा भूमि संरक्षण कृषि प्रभाग जामताड़ा के तत्वधान में रविवार को नाला प्रखंड परिसर में कृषि यंत्रीकरण योजना अंतर्गत महिला स्वयं सहायता समूह तथा सखी मंडल के बीच मिनी ट्रैक्टर वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर विधानसभा अध्यक्ष रविंद्र नाथ महतो मौजूद हुए।मालूम हो कि कार्यक्रम की शुरूआत अतिथियों को बुके प्रदान कर किया गया साथ ही दीप प्रज्वलित कर विधिवत रूप से कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया वहीं उत्पादक संघ की महिलाओं तथा दीदीयों के द्वारा उनके आतिथ्य में भव्य गीत प्रस्तुत की गई। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष रविंद्र नाथ महतो ने संबोधित करते हुए कहा कि, सरकार की यह एक सफल प्रयास है। झारखंड खान एवं खनिज का प्रदेश है इसके साथ खेती भी यहां की प्रमुख है ।यहां उन्नत किसान बसते हैं यहां कृषि की भी प्रबल संभावना है। पठारी क्षेत्र है फल स्वरुप इस क्षेत्र में खेती करना बहुत बड़ी चुनौती है। आज हमारे प्रदेश की लोगों की मानसिकता तथा सोच के कारण आज हमारी परिस्थिति विपन्न है। कहा कि अब कृषि उपकरण के सहारे उन्नत कृषि कर सकते हैं । उन्होंने कहा कि खाली व परती जमीन ना रहे ।खेती से अधिक औरकोई अन्य कार्य में रोजगार का सृजन नहीं है। खेती में जीविकोपार्जन कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज किसानों की विपन्नता का कारण  कृषि कार्य में रुचि नहीं होना है। उन्होंने यह भी कहा कि कृषि कार्य की प्रगति नहीं होने का यही कारण है की किसानों को सम्मान नहीं मिलना, उनके श्रम का शोषण करना आदि कारणों के कारण आज के किसानों की स्थिति दयनीय हो गई। आज किसान एक मजदूर किसान का रूप ले लिया है अगर हम अब भी नहीं चेते तो दुर्गति निश्चित है । उन्होंने कहा कि कृषि से उत्तम और कोई कार्य नहीं है।उन्होंने कहा कि झारखंड एक ऐसा प्रदेश है जहां सब  चीज है और खेती की भी अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने सभी दीदियों को अपील करते हुए खेती पर ध्यान देने की बातें कहीं।उन्होंने कहा कि अभी भी हम ऊर्जा का वैकल्पिक तौर तरीके से इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं फल स्वरुप आय में वृद्धि नहीं हो पाती है। उन्होंने कहा कि सभी कल्याणकारी योजना का राशि जनता की गाढ़ी कमाई की है सभी सरकारी योजना का लाभ हमें लेना है ।उन्होंने अजय बराज योजना के तहत सभी कैचमेंट में पानी पहुंचाने की भी बात कही।कार्यक्रम के दौरान उन्होंने यह भी कहा कि कृषि कार्य में जो अव्वल होंगे उन्हें हम अपने स्तर से पारितोषिक भी देंगे।उन्होंने कहा कि जल ,जंगल ,जमीन बचाना हमारा अधिकार और कर्तव्य दोनों है। इसीलिए धरती माता की सेवा ठीक ढंग से अगर हम कर लिए तो किसी भी प्रकार की कमी नहीं होगी। आज हम जिस धरा पर जन्म लिए ,पले बढ़े आज उसी धरती माता की सेवा करना भूल गए।आज धरती माता की सेवा सही ढंग से नहीं होने के कारण आज हमारी स्थिति विपन्नता की ओर है। कृषि कार्य से उन्नत कोई कार्य नहीं होता आज के युवा वर्ग कृषि कार्य की ओर उन्मुख नहीं हो कर अन्यत्र रोजगार की ओर भटकते हैं जिसका परिणाम यह होता है कि आज हमारी पारिवारिक स्थिति भी चरमरा -सी गई है। हमें वैज्ञानिक तौर तरीके से कृषि कार्य करना पड़ेगा तभी हमारे आय में दोगुनी वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि खेती से आर्थिक स्थिति सुधार होगी। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त अनिलसन लकड़ा ने भी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को संबोधित किया कहा कि स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के लिए गांव में समृद्धि आई है ।उन्होंने संगठन कायम रखने की बात कही। कार्यक्रम को प्रखंड विकास पदाधिकारी कौशल कुमार ,अंचलाधिकारी सुनीता किस्कु, भूमि संरक्षण पदाधिकारी आदि सबों ने भी संबोधित किया। मालूम हो कि आज के इस कार्यक्रम के दौरान कुल 7 स्वयं सहायता समूह की दीदियों/सखी मंडल को मिनी ट्रैक्टर प्रदान की गई। आज के इस कार्यक्रम में बीसीओ जॉन कुमार मरांडी, प्रखंड प्रमुख जियाराम हेम्ब्रम,डीपीएम सुदीप्तो बनर्जी, जेएसएलपीएस के बीपीएम  गणेश प्रसाद महतो ,कॉर्डिनेटर अनिता कुमारी,  ,विधायक प्रतिनिधि वासुदेव हांसदा, केंद्रीय समिति सदस्य सलीम जहांगीर, सफीक अंसारी, भवसिंधु लायेक ,जनार्दन भंडारी ,झामुमो प्रखंड अध्यक्ष उज्ज्वल भट्टाचार्य ,कुंडहित प्रखंड अध्यक्ष मनोरंजन सिंह सहित अन्य पदाधिकारी एवं जनप्रतिनिधि तथा स्वयं सहायता तथा सखी मंडल की दिदियाँ मौजूद थी | 

कोई टिप्पणी नहीं