चक्रवर्ती यास से बेघर लोगों के लिए भारतीय क्रिस्टी सेवा दल संस्था के सहयोग से शालोम स्कूल द्वारा भेजा गया सुखा सामग्री!


मधुपुर शेलोम स्कूल प्रांगण से राशन का सैकड़ों पैकेट वाहनों में लादकर सुंदरबन के लिए  रवाना किया गया पश्चिम बंगाल के सुंदरबन एवं इससे सटे इलाकों की करें तो यहां चक्रवर्ती याद से हजारों लोगों को बेघर कर दिया तूफान के चपेट में आने से लोगों के घर उजड़ गए सब कुछ खत्म हो गया इनके लिए जितनी जरूरी फिर से घर मकान बनाना है। उससे कहीं अधिक जरूरी जीवन जीने के लिए भोजन पानी की अति आवश्यकता है जिससे प्रभावित इलाकों में ज्यादातर बच्चे और महिलाएं पीड़ित हुई है। इन पीड़ितों को भोजन पानी के अलावा मेडिकल सुविधा की भी सख्त जरूरत पड़ रही है मधुपुर के भारतीय क्रिस्टी सेवा दल संस्था के सहयोग से शेलोम स्कूल द्वारा सैकड़ों पैकेट वाहन के दुरा सुंदरबन के लिए सूखा राशन सामग्री पीड़ित लोगों तक पहुंचाना एकमात्र उद्देश्य है मौके पर शेलोम स्कुल जोसेफ पोनराज ने कहा कि यह मदद का तीसरा चरण है.  सुंदरबन समेत घोरमारा द्वीप समूह के प्रभावित लोगों तक राहत सामाग्री पहुंचाया जा रहा है. जोसेफ पोनराज ने बताया कि  लगातार तीसरी बार यहां पहुंचते प्रभावितों को सामुदायिक कि
चन के द्वारा भोजन कराया जा रहा है. साथ राशन का पैकेट दी जायेगी  इससे पहले करीब दो हजार से भी अधिक पीड़ितों को इसका लाभ दिया गया!

कोई टिप्पणी नहीं