राष्ट्रीय नारायणी सेना अध्यक्ष अरुप चक्रवर्ती जनहित मामले को लेकर उपायुक्त को सौपेंगे ज्ञापन



देवघर।स्थानीय क्लब ग्राउण्ड के सामने कुछ समाजसेवी सज्जनों की बैठक  हुई जिसमें  राष्ट्रीय नारायणी सेना के जिला अध्यक्ष अरूप चक्रवर्ती की अध्यक्षता में बैठक हुईं और तीन मुख्य बातों पर चर्चा की गई जिसमें सर्वप्रथम देवघर बाबा बैद्यनाथ धाम पवित्र स्थान को धूमिल करना, दूसरा देवघर नगर निगम क्षेत्र के  खासकर प्राइवेट बस स्टैंड ,बाजला चौक ,स्टेडियम रोड ,लक्ष्मी मार्केट में असामाजिक तत्व के द्वारा अपराधिक घटनाओं जैसे नगद  छीनताई , मोबाइल झपटी एवं बाइक चोरी जबकि तीसरा डाक्टरों तथा अस्पताल संचालकों के द्वारा मनमानी फीस और  शुल्क से भी मरीज परेशान हैं । बैठक में तीनो मुद्दों पर सभी संगठनों के पदाधिकारियों ने गंभीर चिंता व्यक्त किया। बैठक में निर्णय लिया गया कि उक्त चिंता एवं जबरन पैसा निकालने जैसे घटनाओं और ईलाज के नाम पर मनमानी शूल्क से लोकल ओर बाहरी लोग काफी परेशान और भयभीत रहते हैं । देवघर में ईलाज के नाम पर डाक्टरों द्वारा मरिजों से भारी भरकम रूपए लिया जाता है  जो इस  प्रकार है  ब्लड जांच,  अल्ट्रासाउंड , एवं डायग्नोस्टिक ,सभी जानते हैं कि डॉक्टरों ने कमीशन खोरी वसूलना शुरू कर दिया है हर जगह से कमीशन लेना यह कहां तक उचित है।उन्होंने देवघर के सभी डाक्टरों और अस्पताल संचालकों से नम्र निवेदन किया है  कि सेवा भाव से व्यवसाय करें । जैसे कि डॉक्टरों के दूसरे रूप भगवान के रूप होते हैं और आज भगवान लूट खसोट कर रहे हैं उपरोक्त विषयों के लिए  प्रशासन को  सभी समाज सेवी संगठनों द्वारा ज्ञापन सौंपे जाने का निर्णय लिया गया है ।इस मुद्दे पर देवघर के और सामाजिक संगठनों से भी आगे आने का आग्रह किया है । चूंकि यह मामला सभी  नागरिकों से जुड़ा हुआ है।और अधिकतर लॉकडाउन के वजह से मजदूर किसान ,गरीब तबके के लोग आत्महत्या तक करने को विवश हैं यह एक बहुत ही निंदनीय है इस बैठक में मुख्य रूप से राष्ट्रीय नारायणी सेना जिला अध्यक्ष अरूप चक्रवर्ती एवं जनहित सेवा संगठन के उपेन्द्र कुमार बरनवाल, और अन्य कई संगठनों से चंदन साहा, भोला साहा,रविस गुप्ता,सुनील कुमार, शिवनंदन बरनवाल आदि उपस्थित थे सभी संगठनों द्वारा एक साथ होकर बहुत जल्द प्रशासन विभाग मैं सभी वरिष्ठ पदाधिकारियों को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं