करौं में धूमधाम से मनाया गया जन्माष्टमी का त्योहार



देवघर। जन्माष्टमी का त्योहार भाद्रपक्ष कृष्णाष्टमी को कर्मयोगी श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव के रुप में करों प्रखण्ड के विभिन्न  गांवों ,घरों व मंदिरों में मूर्ति स्थापित कर परम्पारिक अनुष्ठान आयोजित कर मनाया गया ।केन्द्रबेरिया , सालतर , डिण्डाकोली , रानीडीह ,रानीडीह और  गोविन्दपुर आदि गांवों में कहीं घटपूजा तो कहीं कृष्णमूर्ति वेदी में विराजमान कर भक्तिपूर्ण पूजा-अर्चना करते हुये  आरोग्य , परिवार सुख -शांति की कामनाएँ की।इस अवसर पर धार्मिक व पौराणिक गांव करों के स्थानीय , ओझा टोला , आचार्य टोला , राय टोला में आकर्षक कृष्णमूर्ति देखने के लिये नर-नारियों का तांता लगा रहा ।   पंडित सुकूमार मिश्र , नीलमणी आचार्य , सरोज पुरी ने ब्रतियों बारी-बारी से संकल्प कराते चन्दन टीका लगाया । उपस्थित कृष्ण भक्तों को कृष्ण नामावली , कृष्ण लीला व कृष्ण  के महत्ता को लेकर पंडितों ने प्रवचन सुनाया।पंडित सरोज पुजारी , सुकूमार मिश्र द्वारा कृष्ण प्रतिमा पर धूप , नैवद्यय , पुष्प , चन्दन , दीप चढ़ावार लोगों  से पुष्पांजलि कराते कृष्ण के व्यवहारिक पक्ष को रखते कहा कि कृष्ण संकट को.दूर करने वाले देवता है । कृष्ण भगवान सदैव भक्तितों के लिये तत्पर २हते है । कृष्ण के स्मरण मात्र से सभी प्रकार के दुखो का नाश हो जाता है I मौके पर मलय सिंह , जगन्नाथ सिंह , जसपाल सिंह , विरेन्द्र सिंह , राहुल सिंह , आशीष आचार्य , विकास राय , मन्टु ओझा , अरदेन्दु सिंह , इन्दु सिंह ,गौरव सिंह ,विमान सिंह आदि मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं