प्रधानमंत्री आवास योजना में भ्रष्टाचार पर तत्काल रोक लगे: संजय भारद्वाज



झारखंड राजद के प्रदेश सचिव संजय भारद्वाज ने देवघर नगर निगम क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना में व्याप्त भ्रष्टाचार और लूट खसोट पर सवाल खड़े करते हुए इस पर तत्काल रोक लगाए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही और उदासीनता के कारण एक अच्छी योजना भी बदइंतजामी का शिकार हो रही है और इससे सरकार की छवि धूमिल हो रही है।

इस संबंध में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को  प्रेषित पत्र में राजद नेता ने कहा है कि देवघर नगर निगम क्षेत्र में शामिल अधिकतर नये इलाकों में भी प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास निर्माण कार्य के लिए धनराशि स्वीकृत करने में हो रही धांधली की जांच कराये जाने की जरूरत है।देवघर नगर निगम क्षेत्र में पी एम ए वाई के ऐसे लाभुक भी मौजूद हैं जिन्होंने कागजात अपनी जमीन के जमा किए है और इस योजना में मिलने वाली धनराशि से आवास का निर्माण दूसरे की जमीन पर कराया है।  यहाँ तक कि सरकारी जमीन पर भी निर्माण किया गया है। जाहिर है कि ऐसी अनियमितता और गड़बड़ी मिलीभगत के बिना संभव नहीं है। यही कारण है कि देवघर क्षेत्र में जमीन संबंधी विवाद लगातार बढ़ रहे हैं और विवाद की आड़ में  बाहर रहने वाले लोगों की जमीन हड़पी जा रही है।

सरकारी योजनाओं में पारदर्शिता जरुरी है तभी लाभ वास्तविक लोगों को मिलेगा और योजना का उद्देश्य पूरा होगा। इसलिए भ्रष्टाचार की जाँच करवाई जाए और जिन लोगों ने गलत काम किया है उन पर धोखाधड़ी और सरकारी धन के गबन का मामला दर्ज कराया जाये। भविष्य में नगर निगम और नगर विकास विभाग द्वारा इस योजना के तहत स्वीकृति से पहले अमीन रिपोर्ट और निर्माण कार्य की प्रक्रिया के दौरान फिजीकल वेरीफिकेशन को अनिवार्य किया जाना चाहिए। जिससे इस घोटाले पर लगाम लगाई जा सके और सरकार को अनावश्यक रूप से बदनाम होने से बचाया जा सके। इसके लिए धनराशि स्वीकृत करने और फिजीकल वेरीफिकेशन में गड़बड़ी करने वाले तत्वों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

कोई टिप्पणी नहीं