शहीदाश्रम तथा जिला कार्यालय में फहराया तिरंगा पार्टी कार्यालय में मंत्री हाफिजूल हसन हुए शरीक



देवघर कांग्रेस पार्टी ने कई कार्यक्रमों के साथ देश की आजादी की 75 वीं वर्षगांठ को धूमधाम से मनाया। स्वतंत्रता दिवस के सुअवसर पर जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय ने सर्वप्रथम शहीदाश्रम तत्पश्चात पार्टी कार्यालय में झंडोत्तोलन किया। झंडोत्तोलन के अवसर पर पार्टी कार्यालय में मुख्य अतिथि के रूप में झारखंड सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण एवं पर्यटन मंत्री हफीजुल हसन ने भाग लिया। जहां पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ सेवा दल के सदस्यों ने मंत्री का स्वागत व सम्मान किया। झंडोत्तोलन के उपरांत मंत्री हाफिजुल हसन ने कहा कि आज देश आजादी के 75 में चाल में प्रवेश कर चुका है, हम आजादी का जश्न मना रहे हैं। परंतु उन लाखों अमर शहीदों एवं स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानी एवं संघर्ष को कदापि नहीं भूलनी चाहिए, हम आज उन्हें नमन करते हैं।

आगे कहा कि वर्तमान में झारखंड के हेमंत सोरेन की नेतृत्व वाली सरकार झारखंड वासियों के हित में हर मजदूर, किसान, बेरोजगार नौजवान के लिए कई योजनाऐ व नियुक्तियां ला रही है, कई महत्वपूर्ण योजनाओं का शुभारंभ भी किया जा चुका है। कोरोना काल के चुनौतियों के बावजूद भी हमारी सरकार सराहनीय कार्य कर रही है।

जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय ने कहा कि देश आज अपनी आजादी के 75वें साल पूर्ण होने के उपलक्ष में "आजादी का अमृत महोत्सव" मना रहा है। महात्मा गांधी और अन्य अग्रणी नेताओं और कार्यकर्ताओं के नेतृत्व वाली पार्टी ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान शानदार भूमिका निभाते हुए सत्याग्रह,नमक मार्च,असहयोग आंदोलन,भारत छोड़ो आंदोलन जैसे अहिंसात्मक आंदोलन के तहत दुनिया के सबसे बड़े और शाही तथा औपनिवेशिक ब्रिटिश शासन के खिलाफ सबसे लंबा आंदोलन चलाकर देश के लिए स्वतंत्रता हासिल की। स्वतंत्रता के बाद पार्टी ने आधुनिक एवं जीवंत भारत के लिए मार्ग प्रशस्त किया, जो दुनिया के सबसे प्रगतिशील देश के अग्रणी पंक्ति में खड़ा है। स्वतंत्रता आसान नहीं थी। क्योंकि निरंकुश और निरंकुश व्यक्तियों और संगठनों, जिनमें से अधिकांश ने तब अंग्रेजों का पक्ष लिया था और स्वतंत्रता आंदोलन का विरोध किया था। वह अब हमारी राजनीति और लोकतंत्र की नींव को चुनौती दे रहे हैं। व्यक्तिगत स्वतंत्रता को कम करना, सामाजिक अन्याय को कायम रखना, संस्थागत स्वायत्तता को नष्ट करना, जाति और धार्मिक विभाजन पैदा करना और हमारे संविधान और राष्ट्रीयता के मूल सिद्धांतों से समझौता करना, उनका खुला और गुप्त एजेंडा है।आज स्वतंत्रता को संरक्षित करने का हमारा दायित्व है। वहीं पूर्व जिला अध्यक्ष ओमप्रकाश सिंह,जीवन प्रकाश,राजेंद्र दास एवं वरिष्ठ नेता हरिशंकर पत्रलेख,नागेश्वर सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रो. उदय प्रकाश, कुमार विनायक,फैयाज केशर, मीडिया प्रभारी दिनेश कुमार मंडल,अजय कुमार ने अपना विचार रखा। झंडोत्तोलन में जिप सदस्य महेंद्र यादव,नगर अध्यक्ष रवि केसरी,गणेश दास,केदार दास, युवा अध्यक्ष आदित्य सरोलिया, महिला अध्यक्ष प्रमिला देवी,नाहिदा सुल्तान,अर्जुन रावत, डॉ अनूप, रवि गुप्ता, जियाउल हसन, झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुरेश शाह, नूनू सिंह तथा कांग्रेस के लूटन सिंह, ज्ञान प्रकाश, किशोर ठाकुर, महेश मणि द्वारी, संजीव झा, दिनेशानंद झा,मकसूद आलम, उपेंद्र राय, झब्बू पंडित,बम शंकर यादव, ओम प्रकाश यादव, युवा मोर्चा के अमित पांडेय,गोपाल गौतम, विशाल वत्स, गुलाब यादव, राम कांत यादव,सौरभ झा,विकास दास, दिलीप ठाकुर, राजू तुरी, समसुद्दीन अंसारी, बाबा यादव, मनीष केसरी,मनमोहन झा,अशोक झा,राहुल राज,राजीव झा, एनएसयूआई के रवि वर्मा,आशुतोष पासवान,मनोहर टूडू, सेवादल के शैलेश मालवीय,राघवेंद्र झा,आनंद देव,अर्जुन सिंह, राजू राउत, सरु राउत,मो.मुस्लिम,पंकज वर्मा,अरनव, ब्रह्मदेव रवानी,नंदलाल यादव,सुखदेव सिंह,ओम सिंह, किशोर कुमार दास,मो. फारुख, धीरेंद्र सिंह,बद्री मंडल,सुखदेव सिंह,सुखदेव दास,राज कुमार झा,राजेंद्र दास,अधीर बर्मा आदि ने भाग लिया।

कोई टिप्पणी नहीं