ई कल्याण पोर्टल खोले जाने पर छात्रों में हर्ष

 



देवघर पिछले पाँच महीने से संघर्ष कर रहे बीएड सेमेस्टर वन के छात्रों की मांगें पूरी हो गई है । ज्ञात हो कि संबंधित पाठ्यक्रम के छात्र छात्राओं की मांग - ई - कल्याण पोर्टल खोला जाने की थी ताकि छात्रवृत्ति से वंचित छात्र - छात्राएं फार्म भर सके । छात्रों के संघर्ष व आंदोलन पर दो अगस्त से सरकार ई - कल्याण पोर्टल खोलने को राजी हुई है । इससे राज्यभर के 6 हजार से अधिक छात्र - छात्राओं को लाभ मिलेगा । अपनी जीत पर बीएड के छात्र - छात्राओं ने खुशी जताई है ।

क्या है पूरा मामला

बीएड शैक्षणिक सत्र 2020-22 के लिए 2021 में नामांकन लेनेवाले अधिकांश छात्र छात्राएं 2020-21 के लिए छात्रवृत्ति फार्म नहीं भर सके थे । इसकी मुख्य वजह ई - कल्याण पोर्टल का 10 , फरवरी , 2021 को ही बंद कर दिया गया था और बीएड सेमेस्टर वन का एडमिशन अभी तक लिया जा रहा है । पोर्टल बंद होने से अधिकांश विद्यार्थी छात्रवृत्तिफार्म भरने से वंचित रह गए थे । पुनः पोर्टल खोलवाने के लिए स्टूडेंट्स संघर्ष कर रहे थे ।

26 को खुला पोर्टल पर शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए

15 जुलाई को राज्यभर के बीएड स्टूडेंट द्वारा राजभवन के समक्ष एक दिवसीय धरना दिया गया था । जिस दिन सरकार द्वारा उनलोगों को आश्वासन दिया गया था कि उनलोगों की मांगों पर विचार कर पोर्टल ओपेन की जाएगी । इसके बाद बीते 26 जुलाई को पोर्टल ओपेन तो कर दिया गया , परंतु इसका फायदा संघर्षरत विद्यार्थियों को नहीं मिल सका क्योकि पोर्टल नए बीएड स्टूडेंट अर्थात् शैक्षणिक सत्र 2021-23 के छात्रवृत्ति फार्म वर्ष 2021-22 के लिए खोला गया था।जिसका अभी तक एडमिशन भी नहीं हुआ है । सरकार के ग़लत रवैए  से छात्र - छात्राओं का आक्रोश बढ़ गया और वे लोग राज्य के सभी जिलों से सैकड़ों की संख्या में पुनः धरना देने रांची राजभवन के पास पहुंच गए । 26 से 28 जुलाई तक बारिश में सभी मांगों को लेकर राजभवन के समक्ष डटे रहे । आखिरकार 28 जुलाई देर शाम को सरकार की ओर से उनलोगों की मांगे  मान ली गई । कल्याण विभाग के अपर सचिव अजय नाथ झा ने इसके लिए आदिवासी कल्याण आयुक्त को पत्र । लिखा है । झारखंड मान्यता प्राप्त बीएड कॉलेजों के शैक्षणिक सत्र 2020-22 के लिए 2021 में नामांकन लेने वाले । छात्र - छात्राओं के लिए 2020-21 के  लिए छात्रवृत्ति के आवेदन की प्रक्रिया लेनी सुनिश्चित की जाए।दो अगस्तको  ई - कल्याण पोर्टल खुलेगा और 30  दिसंबर को बंद होगा । इस दौरान छात्र  छात्राएं आवेदन कर सकेंगे ।


मौसमी कुमारी की रिपोर्ट

कोई टिप्पणी नहीं