त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियों को लेकर उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को दिये आवश्यक दिशा-निर्देश



त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2021 से संबंधित निर्वाचन से जुड़े कार्यों को लेकर आज दिनांक 13.08.2021 को उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी  मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में समीक्षात्मक बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत के पदों एवं स्थानों में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग एवं महिलाओं के लिए स्थानों के आरक्षण एवं आवंटन, निर्वाचन क्षेत्रों का गठन एवं संख्याओं का (प्रपत्र 1), निर्वाचन क्षेत्रों के स्थानों एवं पदों का आरक्षण प्रक्रिया (अनुसूचित क्षेत्रों के लिए) प्रपत्र 2 एवं निर्वाचन क्षेत्रवार, कोटिवार आरक्षित, अनारक्षित पद-प्रपत्र 3 से संबंधित कार्यों की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा निर्देश दिया गया। साथ हीं उपायुक्त ने सभी 10 प्रखण्डों के प्रखंड विकास पदाधिकारी को निदेशित किया कि किसी भी मतदाता का नाम उनके पंचायत/वार्ड के मतदाता सूची पर हो अन्य पंचायतों में ना हो सबसे महत्वपूर्ण किसी भी मतदाता का नाम मतदाता सूची से बिना कारण न हटाया जाय इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखा जाय।

इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा पंचायत चुनाव से जुड़े विभिन्न किये जाने वाले कार्यों को लेकर संबंधित अधिकारियों को निदेशित किया कि निर्वाचन से जुड़े कार्यों को तय समय के अनुरूप पूर्ण कर लें, ताकि आने वाले समय में किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। आगे उपायुक्त ने कहा कि मतदान केन्द्रों से जुड़े कार्यों की समीक्षा करते हुए उपायुक्त कार्यालय को अवगत करायें। साथ हीं उपायुक्त द्वारा जानकारी दी गयी कि ग्राम पंचायत के सदस्य पद, पंचायत समिति के सदस्य पद, जिला परिषद के सदस्य पद, ग्राम पंचायत के मुखिया पद एवं पंचायत समिति के प्रमुख पद के लिए जिला दंडाधिकारी के स्तर से तथा जिला परिषद के अध्यक्ष हेतु राज्य निर्वाचन आयोग के स्तर से किया जाना है। इसके अतिरिक्त समीक्षा बैठक के दौरान त्रिस्तरीय पंचायत आम चुनाव 2021 हेतु मतदान केंद्रों का सत्यापन, त्रिस्तरीय पंचायत आम चुनाव 2015 के व्यय लेखा कार्यों का संपादन आदि से संबंधित समीक्षा के उपरांत उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। 

वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के दौरान उपायुक्त  मंजूनाथ भजंत्री ने द्वारा जानकारी दी गयी कि मतदाता सूची का डेटाबेस आयोग से प्राप्त होना के पश्चात चुनाव कार्य हेतु मत पेटिका का आकलन किया जाएगा। ऐसे में उक्त डाटाबेस के आधार पर निर्वाचन के निमित्त मतदाता सूची को वार्डवार विखंडित कर पारदर्शी तरीके से मतदाता सूची तैयार करने की जिम्मेदारी संबंधित अधिकारी की होगी। इसके अलावे बैठक के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत आम चुनाव 2021 के सफल संचालन हेतु जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी एवं जिला पंचायती राज पदाधिकारी को निदेशित किया कि दिनांक-14.08.2021 को एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन कर पंचायत चुनाव से सबंधित कर्मियों/कम्प्यूटर ऑपरेटरों आदि को प्रशिक्षण देना सुनिश्चित किया जाय, ताकि डेटाबेस को किस तरह से अपलोड किया जाना है, पंचायत चुनाव से संबंधित सॉफ्टवेयर को किस तरह से इंस्टॉल किया जाना है आदि जानकारियों से अवगत कराया जा सके और पंचायत चुनाव को बाधारहित सम्पन्न कराया जा सके। आगे उपायुक्त ने अनुमंडल पदाधिकारी देवघर एव मधुपुर तथा सभी प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी को निदेशित किया कि पंचायत चुनाव से संबंधित सारे कार्यो का पर्यवेक्षण अपने-अपने स्तर से लगातार करते रहे, ताकि कहीं किसी प्रकार की त्रूटि न रहे। इसके अलावे उपायुक्त ने पंचायत चुनाव को लेकर जल्द-से-जल्द बज्रगृह एव मतगणना केंद्र के चयन करने का निदेश संबंधित अधिकारियों को दिया है, ताकि राज्य निर्वाचन आयोग को इससे जुड़ी जानकारी उपलब्ध करायी जा सके। आगे उपायुक्त ने दिव्यांग मतदातओं की सूची तैयार करने एवं राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा प्राप्त दिशा-निर्देश के आलोक में मतदान केंद्रों पर आवश्यक सारी सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित करने की तैयारी करने की आवश्यकता है, ताकि दिव्यांग मतदाता सुगमतापूर्वक अपने मत का उपयोग कर सकें।  

इस दौरान उपरोक्त के अलावे अनुमंडल पदाधिकारी, देवघर व मधुपुर, जिला पंचायत राज पदाधिकारी, जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी, सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी के साथ-साथ संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।


कोई टिप्पणी नहीं