मधुपुर अधिवक्ता संघ ने सरकार से अविलंब अधिवक्ता प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने की माँग की।



देवघरः विगत तीन दिन पूर्व रांची कोर्ट के अधिवक्ता मनोज झा की हत्या एवं बुधवार को अहले सुबह धनबाद के जिला जज उत्तम आनंद के मौत की घटना के बाद अधिवक्ताओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मधुपुर के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी बिनोद रवानी, थाना इंचार्ज मनोज कुमार मल्लिक अपने सहयोगियों के साथ पहुँचकर अधिवक्ताओं से मिले तथा बात चीत कर सदस्यों से सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में जानकारी प्राप्त की। साथ ही संघ परिसर में घूमकर पूरे बार एसोसिएशन के सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। एसडीपीओ ने अधिवक्ताओं से किसी तरह की परेशानी की स्थिति में या अन्य कोई घटना की अंदेसा होने पर तुरंत संपर्क करने को कहा। साथ हीं थाना इंचार्ज मनोज मल्लिक ने संघ को हर तरह से मदद करने व पुलिस पेट्रोलिंग उपलब्ध कराने की बात कही। इधर संघ द्वारा अधिवक्ता मनोज झा की हत्या की कड़ी निन्दा की गई और आज के समय में अधिवक्ता अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे है, आये दिन अधिवक्ताओं पर हमले हो रहे है, ऐसे में अधिवक्ता एवं उनके परिवार के सदस्यों में भय का माहौल बना हुआ है। इसलिए हम अधिवक्ताओं की मांग है कि सरकार अविलंब अधिवक्ता प्रोटेक्शन एक्ट लागू करे, जिससे अधिवक्ताओं के जान माल की सुरक्षा हो सके। उक्त हत्याकांड के बाद झारखंड स्टेट बार काउंसिल, रांची के निर्देशानुसार पूरे राज्य के अधिवक्तागण दिनांक- 30/07/2021 शुक्रवार को अपने आप को न्यायिक कार्यो से अलग रहेंगे। साथ ही साथ संघ ने मधुपुर नगरपरिषद से अधिवक्ता संघ परिसर एवं संघ में स्थित सुलभ शौचालय की नियमित रूप से साफ-सफाई कराने पर भी चर्चा की गई। मौके पर संघ के उपाध्यक्ष विन्देश्वरी प्र.शाही, महासचिव प्रमोद कुमार राय, प्रशासनिक सचिव जितेन्द्र कुमार, डोमन प्र.यादव, श्याम सुंदर भैया, महेन्द्र सिंह, दिनेश चौधरी, विजय सिंह, नवल किशोर सिंह, छोटेलाल दास, समरेश कु.सिंह, संजय बारी, अश्विनी गुप्ता, उमेश शाही, गणेश कु.यादव, उमेश सिंह सहित दर्जनों अधिवक्ता एवं अधिवक्ता लिपिक आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं