श्रद्धालुओं के बाबाधाम प्रवेश पर रोक के लिए एसडीएम ने शिवगंगा व बाबा मंदिर प्रवेश द्वार का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए कई विशेष दिशा निर्देश।



देवघर में आयोजित होने वाले विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला पर सरकार ने कोविड- 19 के कारण रोक  लगा दिया है।वही बाबा मंदिर पट श्रद्धालुओं के लिए बंद है।बावजूद सैकड़ो श्रद्धालु बाबा मंदिर के आसपास आ जा रहे है ।वही जानकारी के बाद श्रद्धालुओं को बाबा बैधनाथ धाम देवघर में प्रवेश पर रोक लगाने के लिए पूरी तरह से सक्रिय हो गई है । जिला प्रशासन आज से व्यवस्था को दुरुस्त करने का कार्य शुरू कर दिया है ।इसको लेकर देवघर के एसडीएम  दिनेश कुमार यादव ने डीपीआरओ रवि कुमार व मंदिर प्रबंधक रमेश परिहस्त  के साथ देवघर के शिव गंगा और सिंह दरवाजा सहित मंदिर के चारों दरवाजों का जायजा लिया । साथ ही बैरिकेडिंग के कार्य को और भी दुरुस्त करने के आदेश दिए गए हैं। देवघर एसडीएम दिनेश कुमार यादव ने कहा है कि झारखंड सरकार ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद रखने का निर्णय लिया गया है।इसलिए शिव भक्त व श्रद्धालुओं को भी अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते सरकार के गाईड लाइन का पालन करना चाहिए। पाबंदियां जरूर लगाई गई है।साथ में देवघर एसडीएम ने कहा है कि शिव गंगा में लोग ज्यादा संख्या में स्नान कर रहे हैं। जिससे महामारी फैलने की संभावना है ।ऐसे में इसकी बैरिकेडिंग कर दी गई है ।बाकी कार्य दो से 3 दिनों में पूरे कर दिए जाएंगे ।इसके अलावा दुम्मा बार्डर सहित कई जगहों को चिन्हित कर लिया गया है । इसके अलावा श्रद्धालुओं को बाबा मंदिर आने से रोकने के लिए जागरूकता कार्यक्रम भी चलाया जाएगा ।इसके अलावा एसडीओ ने लोगों से अनुरोध किया है कि वह शांति बनाए रखें और अपने घरों में ही रहकर बाबा भोलेनाथ की आराधना करें। झारखंड के सभी बॉर्डर पर पुलिस बल दंडाधिकारी की तैनाती कर दी गई है । देवघर के एसडीएम ने कहा है कि सभी जगह पर चेक पोस्ट और बैरी कटिंग करने का कार्य शुरू कर दिया जाएगा। इसके अलावा सूचना जनसंपर्क विभाग के माध्यम से जगह-जगह होर्डिंग और बैनर के माध्यम से प्रचार प्रसार भी किया जाएगा ।

कोई टिप्पणी नहीं