बिहारी लाल सर्राफ हाई स्कूल रिखिया में बच्चों की शिक्षा के प्रति अभिभावकों में आई जागरूकता



देवघर।ऑनलाइन शिक्षक प्रेरित कर रहे  छात्रों को कोविड 19 के समय अनेक परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर हो चुकी हैं।बहुत से परिवार को तो निजी विद्यालयों से अपने बच्चों का नामांकन रद्द करवाना पड़ा।कारण विद्यालय की फीस देने में असमर्थ हो चुके है।सरकारी विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चें भी वर्तमान समय मे संघर्ष के दौर से गुज़र रहे है।ऑनलाइन क्लास के लिये मोबाइल फ़ोन में डेटा भराना आज बच्चों की समस्या हो चुकी हैं।ऐसे में बिहारी लाल सर्राफ हाई स्कूल रिखिया, मोहनपुर के शिक्षक धीरेंद्र भारती, विषय- जीवविज्ञान के द्वारा ऑनलाइन कक्षा में  बच्चों को सतत प्रेरणा, और नैतिक शिक्षा, परिवार की जिम्मेदारी समझने की क्षमता, और संस्कृति के मुल्यों की समझ विकसित की जा रहीं है, जिसका परिणाम बच्चों में शिक्षा के प्रति जागरूकता के रूप में देखने को मिल रहा है।ग़रीब छात्रा अपने माता के रसोईघर में हाथबटा कर पाककला में निपुणता प्राप्त कर रहीं है।वहीं छात्र भी गृहकार्य में अपने अभिभावकों की मदद कर रहें है एवं अपनी छोटी-छोटी बचत करके  इस विषम परिस्थिति में अपनी पढ़ाई को जारी रखें  है।भूगोल के शिक्षक प्रणव के साथ साथ प्रभारी महोदया द्वारा प्रतिदिन बच्चे को ऑनलाइन शिक्षा के द्वारा नैतिक शिक्षा क़ा ज्ञान भी देते रहे है ।

कोई टिप्पणी नहीं