कुंडहित में कोरोना के कारण लगातार दूसरे साल बिना भक्तों के निकलेगी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा, तैयारी अंतिम चरण में।



कुंडहित (जामताड़ा ):भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा के लिए रथों के निर्माण का कार्य अंतिम दौर में चल रहा है। रथों को तैयार करने के लिए कारीगर दिन-रात जुटे हुए हैं। जानकारी के अनुसार कुंडहित प्रखंड में 5 स्थानो पर रथ यात्रा का आयोजन किया जाता है ।मुख्यालय स्थित लोहारपाड़ा, माझपाडा, बनकाटी, बाबूपुर एवं तुलसीचक में भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा का पूजा अर्चना के बाद शाम को गाजा बाजा के साथ बाजार परिभ्रमण हेतु निकाली जाती है। कुंडहित मध्यटोला के गौरंगो कर ने बताया कुंडहित मैं 400 सालों से भगवान जगन्नाथ भाई बलराम एवं बहन सुभद्रा की पट लगाकर रथ का आयोजन किया जा रहा है। कुंडहित मुख्यालय में तीन रथों का परिभ्रमण कराया जाता है वही रथ यात्रा को लेकर हटिया परिसर में प्रखंड क्षेत्र का सबसे बड़ा एक दिवसीय मेला का भी आयोजन किया जाता है। लेकिन बीते 2 साल से कोरोना के कारण मेला का आयोजन नहीं किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं